Joindia
आध्यात्मदेश-दुनियानवीमुंबईमुंबई

Ram mandir nirman festival : महाराष्ट्र सरकार ने 22 जनवरी को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया

Advertisement

मुंबई । कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) महाराष्ट्र प्रदेश के महामंत्री एवं अखिल भारतीय खाद्य तेल व्यापारी महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष शंकर ठक्कर ने बताय कैट महाराष्ट्र इकाई द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री एकनाथ शिंदे से आग्रह किया था कि 22 जनवरी 2024 को भगवान श्री राम (Ram mandir nirman festival) को अयोध्या (ram mandir ayodhya) में राम जन्मभूमि पर बनने वाले भव्य मंदिर में विराजमान किया जाएगा। भारतीय इतिहास के सबसे महान क्षणों में से एक, आगामी 22 जनवरी को अयोध्या धाम में श्री राम मंदिर के अभिषेक और उद्घाटन को सदैव जीवंत रखने के लिए इस दिन को यानी 22 जनवरी को सार्वजनिक अवकाश घोषित किया जाए।

Advertisement

मर्यादा पुरूषोत्तम श्री राम निस्संदेह भारत के सबसे महान राजा हैं जिनके शासन में भारत के लोग न केवल समृद्ध और स्वस्थ हुए बल्कि धर्म और भाईचारे में गहरी आस्था भी स्थापित हुई। वह काल भारत के स्वर्णिम सनातन इतिहास के महानतम कालों में से एक माना जाता है और चूँकि 22 जनवरी को श्री राम मंदिर का उद्घाटन हो रहा है, इसलिए उस दिन को राम राज्य की स्थापना का दिन मानते हुए इस दिन को राम राज्य दिवस घोषित किया जाना प्रदेशवासियों की आकांक्षाओं का सम्मान होगा।

कैट महाराष्ट्र प्रदेश के वरिष्ठ अध्यक्ष महेश बखाई ने कहा कि यह बेहद महत्वूर्ण दिन श्री राम के आदर्शों, नीतियों एवं मर्यादाओं को आत्मसात् करने एवं अपनाने के लिए तथा भारत में राम राज्य सरीखे शासन एवं प्रशासन की स्थापना के लिए सदैव प्रदेशवासियों को प्रेरित करेगा और इस दृष्टि से इस दिन के महत्व को देखते हुए 22 जनवरी को अन्य महत्वपूर्ण दिनों पर सार्वजनिक अवकाश की परंपरा को जारी रखते हुए इस दिन को सार्वजनिक अवकाश दिवस भी घोषित किया जाये।

Shivsena (UBT): महाराष्ट्र मे भविष्य में दो ही नेता रहेंगे …शरद पवार और उद्धव ठाकरे!, संजय राउत का दावा

कैट महाराष्ट्र प्रदेश के अध्यक्ष सचिन निवंगुने कहा कि भारत में एक बार फिर सनातन धर्म की महिमा और गौरव को बहाल करने के ध्वजवाहक होने के लिए देश का व्यापारिक समुदाय प्रधानमंत्री जी का अभिनंदन करता है। सनातन के गौरव को पुनः स्थापित करने में अपने अथक प्रयासों, प्रतिबद्धता और समर्पण से श्री मोदी ने अपना नाम सनातन भारत के सबसे महान सपूत के रूप में अंकित किया है जिसे युगों-युगों तक याद किया जाएगा। हमने केंद्र सरकार से भी यह अनुरोध किया है। और राज्य सरकार से भी अनुरोध करते हैं कि इस ऐतिहासिक दिवस को सार्वजनिक अवकाश घोषित करें।

शंकर ठक्कर ने कहा आज महाराष्ट्र सरकार द्वारा 22 तारीख को अवकाश घोषित किया गया है जिस व्यापारी समुदाय में खुशी की लहर फैल गई है। हमारी मांग को स्वीकारने के लिए हम महाराष्ट्र सरकार के मुख्यमंत्री श्री एकनाथ शिंदे एवं सरकार का तेरे दिल से आभार व्यक्त करते हैं।

Advertisement

Related posts

दसवीं के टॉपर्स ने बताया सफलता का रहस्य, यह सब प्रातः अध्ययन, योजना और समर्पण का फल

Deepak dubey

Varsoli beach: स्वच्छता अभियान में वरसोली समुद्र किनारे मिला दस किलो चरस के पैकेट, पैकेटों को रायगढ़ पुलिस को सौंपा

Deepak dubey

President’s Medal: राज्य के 3 अधिकारियों को राष्ट्रपति पदक की घोषणा

Deepak dubey

Leave a Comment