Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियानवीमुंबईमुंबई

सातवें आसमान पर सब्जियों के भाव, आवक कम होने से कीमतों मे दोगुना बढ़ोतरी

Advertisement

मुंबई। हिट एंड रन के कानून(Hit and Run laws)के खिलाफ ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल का असर अब वाशी स्थित मुंबई कृषि उत्पन्न बाजार समिति मे भी दिखाई देने लगा है। स्थिति यह है कि एक ही दिन में सभी सब्जियों के भाव में बढ़ोतरी हुई है। जिसका असर खुदरा बाजार मे ग्राहकों से लूट शुरू हो गई है। व्यापारियों ने आशंका जताई है कि अगर हड़ताल जारी रही तो सब्जियों के दाम मे ओर बढ़ोतरी हो सकता है।

केंद्र सरकार ने मोटर व्हीकल एक्ट में संशोधन कर कानून को सख्त बना दिया है। इसका सीधा असर जरूरी वस्तुओं पर पड़ा है और दूसरे राज्यों खासकर गुजरात, राजस्थान, मध्य प्रदेश और कर्नाटक से आने वाले सामान की एपीएमसी में एंट्री नहीं हुई है। इसलिए दूसरे राज्यों से गाजर, मटर, फूलगोभी, पत्तागोभी, हरी मटर जैसी सब्जियां नहीं आईं। पहले बाजार मे सब्जियों की गाड़ी एक हजार से अधिक होती थी लेकिन आज 525 गाड़ियों की आवक हुई है। जिसका असर कीमतों पर हुआ है। पहले एपीएमसी मे 20 से 25 रुपए किलो बिकने वाला हरा मटर 40 से 50 रुपए प्रति किलो बेचा गया। जब की यही मटर खुदरा बाजार मे 100 से 120 रुपए किलो बेचते नजर आए।15 से 20 रुपए किलो बिकने वाला टमाटर आज 30 से 40 रुपए प्रति किलो बेचा गया।

आलू प्याज की आवक हुआ आधा

ड्राइवरों के हड़ताल का सबसे अधिक असर आलू प्याज पर देखने मिला है। हड़ताल के कारण प्याज की आवक कम हो गई है प्रतिदिन 100 से 120 गाड़ियाँ आती हैं लेकिन आज केवल 70 गाड़ियाँ ही आईं। जिसके कारण पहले 20 रुपए बेचा जाने वाला प्याज आज 30 से 40 रुपए बेचा गया। जब की पहले 25 रुपए बेचा जाने वाला आलू आज 40 से 50 रुपए बेचे जाने की जानकारी व्यापारी मनोहर तोतलनी ने दिया। उन्होंने बताया कि खेतों मे आलू निकाले गए है लेकिन लोडिंग के लिए गाड़ी नहीं है। कई जगहों पर तो आलू प्याज लोड किया गया है लेकिन डीजल नहीं मिलने के कारण गाड़िया सड़कों के किनारे खड़ी है हड़ताल समाप्त होते ही कीमतों मे गिरावट होने का अनुमान लगाया है।

Advertisement

Related posts

लेजर शो से जगमगायेगा मरीन ड्राइव !

Deepak dubey

Loksabha Election 2024: मतदान के लिए पुलिस तैयार, मुंबई मे 2475 अधिकारी, 22100 अमलदार और 6200 होम गार्ड तैनात

Deepak dubey

वर्षा गायकवाड़ को उत्तर मध्य मुंबई से उम्मीदवारी

Deepak dubey

Leave a Comment