Joindia
देश-दुनियाकल्याणठाणेमुंबईराजनीतिसिटी

JNU में लगे ‘ब्राह्मण भारत छोड़ो’ के नारे, फिर सीधे सुनाई ‘ब्राह्मण गाथा’…

Advertisement
Advertisement

नई दिल्ली। दिल्ली में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) की कई दीवारों पर ब्राह्मण विरोधी नारों वाली कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई हैं। इस घटना के बाद विश्वविद्यालय के शिक्षक और छात्र संघों ने मामले की स्वतंत्र और निष्पक्ष जांच की मांग की है। लेकिन तभी गीतकार मनोज मुंतशीर शुक्ला उछल पड़े और कहा कि यह सनातन धर्म का अपमान है।

जेएनयू में ब्राह्मण विरोधी नारे लगने के बाद अब मनोज मुंतशिर ने एक छोटा सा वीडियो शेयर कर धरती पर ब्राह्मणों के योगदान की अहमियत बताई है। गीतकार मनोज मुंतशीर ने अपना वीडियो बनाया कि कैसे ब्राह्मणों ने हमारी संस्कृति और पांडुलिपियों को सहेजा है। इस वीडियो में ब्राह्मणों के महत्व को बताते हुए कहा है कि प्राचीन काल में भी क्षत्रियों को शास्त्रों और शास्त्रों की शिक्षा देने का उत्तरदायित्व केवल ब्राह्मणों का ही होता था।इसमें वह कहता है कि वह केवल एक ब्राह्मण था, जो राजाओं को ज्ञान देकर महान बना रहा था। दधी के ऋषि जिन्होंने समाज कल्याण के लिए अपनी अस्थियां भी दान की हैं।उसमें उन्होंने यह भी कहा कि वे ब्राह्मण थे, जिन्होंने एक वंचित वनवासी को सम्राट बनाया और अखंड भारत की स्थापना की, लेकिन दुख की बात यह है कि आज इस पर कोई बात नहीं करता। गीतकार मनोज मुंतशीर शुक्ला के इस वीडियो को ट्विटर पर शेयर करने के बाद कई लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया दी है और उनका समर्थन किया है। हालांकि, ब्राह्मणों के भारत छोड़ो के नारों के बाद विभिन्न संगठनों ने मांग की है कि इस मामले की निष्पक्ष जांच की जाए और इन नारों को लगाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

Advertisement

Related posts

आख़िरकार 26 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नवी मुंबई मेट्रो का करेंगे उद्घाटन

Deepak dubey

MIDC: एमआईडीसी की सुपर स्टीम बॉयलर कंपनी में लाखों की चोरी…

Deepak dubey

जंग के मैदान से अपने पेट्स को बचा लाए बच्चे: युद्ध के बीच बंकर तक में साथ रहे, जानवर लाने के लिए मंत्री वी के सिंह से ली अनुमति

cradmin

Leave a Comment