Joindia
कल्याणठाणेमुंबईराजनीतिसिटी

मुंबई में काबू में नहीं आ रहीं बीमारियां, जीका ने भी डराया बढ़े डेंगू , मलेरिया और चिकनगुनिया के मरीज

Advertisement
Advertisement

मुंबई। मुंबई में मानसूनी बीमारियों को काबू करने के लिए मनपा की तरफ से किए जा रहे प्रयास नाकाफी साबित हो रहे हैं। एक तरफ जहां मुंबई में पहले से ही डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया जैसे रोगों के बढ़ते मामलों ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को टेंशन दे रखा है, उसी में जीका ने भी डराना शुरू कर दिया है। इस साल मानसून के दौरान मुंबई में जीका वायरस से दो लोग संक्रमित हो चुके हैं। इसमें एक मरीज 15 साल की किशोरी है।
मुंबई मनपा के स्वास्थ्य विभाग द्वारा उपलब्ध कराए गए आंकड़ों के मुताबिक इस महीने के पहले तीन दिनों में ही मलेरिया के 57, डेंगू के 32, स्टमक फ्लू के 74, लेप्टो के 14, स्वाइन फ्लू के 1, चिकनगुनिया के 3 और हेपेटाइटिस के 13 मामले दर्ज किए गए हैं। वहीं पिछले महीने मलेरिया के 1080, डेंगू के 999, स्टमक फ्लू के 978, लेप्टो के 301, स्वाइन फ्लू के 116, चिकनगुनिया के 35 और हेपेटाइटिस के 103 मामले सामने आए थे। मनपा की कार्यकारी स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दक्षा शाह ने बताया है कि इस साल रिपोर्टिंग यूनिट के 888 होने से बड़ी संख्या में मुंबईकरों की स्क्रीनिंग की जा रही है, जिसके चलते मानसून में रोगियों की तादाद अधिक दिखाई दे रही है। उन्होंने कहा कि जांच में इस महीने मलेरिया, डेंगू और चिकनगुनिया के मामले अधिक दिखाई दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनवरी से जुलाई के बीच कुल 11174 लोगों को नोटिस जारी किया गया है। इनमें से 554 लोगों का मामला न्यायालय में शुरू है। इसके साथ ही इन सभी से 1016500 जुर्माना वसूला गया है।

मौसमी बीमारियों को रोकने मनपा कर रही उपाय

संयुक्त कार्यकारी अधिकारी डॉ. दक्षा शाह ने कहा कि इस महीने डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के मामले बढ़े हैं। इसकी रोकथाम के लिए तमाम तरह के प्रयास किए जा रहे हैं। मलेरिया और डेंगू मच्छरों के प्रजनन स्थलों का पता लगाकर उन्हें नष्ट किया जा रहा है। मनपा के स्वास्थ्यकर्मी रोजाना करीब 200 घरों का सर्वे कर रहे हैं। शहर के विभिन्न क्षेत्रों में स्थित सोसायटियों, झोपड़पट्टियों के आस-पास एकत्रित होनेवाले कबाड़ के सामानों, टायर और ताड़पत्री आदि को हटाने के साथ ही आवश्यकता के अनुसार उपचार के लिए 412 स्वयंसेवकों की मदद ली जा रही है। इसके अलावा और भी कई उपाय किए जा रहे हैं।

मनपा ने शुरू किया डेंगू विरूद्ध मुंबई ऐप

डॉ. दक्षा शाह ने कहा कि मनपा ने डेंगू विरुद्ध मुंबई एप को तैयार कर लिया है। यह ऐप नागरिकों को मोबाइल पर सहजता से उपलब्ध हो गया। उन्होंने कहा कि इस ऐप को घर और कार्यस्थल परिसरों में प्रतिबंधात्मक उपाययोजना करने के लिए इनडोर ब्रिडिंग स्थल को लेकर तैयार किया गया है।

कुर्ला में जीका का मिला मरीज

डॉ. शाह ने कहा कि मुंबई के कुर्ला में एक 15 साल की किशोरी जीका वायरस से संक्रमित पाई गई है। किशोरी को कई दीर्घकालीन बीमारियां भी घेर रखी हैं। 20 अगस्त से बच्ची को बुखार आ रहा था। साथ ही लगातार सिरदर्द भी हो रहा था। इसके बाद उसका निजी अस्पताल में इलाज चला। इसके बाद उसे मनपा अस्पताल में भर्ती कराया गया। कई दिनों के इलाज के बाद मंगलवार को उसकी सेहत में सुधार हुआ है। उन्होंने कहा कि अगस्त में जीका वायरस से संक्रमित दो मरीज मुंबई में मिल चुके हैं।

मौसमी बीमारियों के आंकड़े

जून
बीमारी मरीज

मलेरिया 676
गैस्ट्रो 1744
डेंग्यू 353
लेप्टो 97
हेपेटाइटिस 141
चिकनगुनिया 8
स्वाइन फ्लू 90

जुलाई
मलेरिया 721
गैस्ट्रो 1767
डेंग्यू 685
लेप्टो 413
हेपेटाइटिस 144
चिकनगुनिया 27
स्वाइन फ्लू 106

Advertisement

Related posts

CRIME: नवजात शिशु को रिक्शे में छोड़ दंपत्ति ने रची अपहरण साजिश, पुलिस ने खोली पोल 

Deepak dubey

Mumbai: इस मंदिर की तरह हो मुंबादेवी का कायाकल्प

dinu

Fake encounter: फर्जी एनकाउंटर पर कब लगेगा लगाम, नालासोपारा फर्जी एनकाउंटर मामले मे दो पुलिस कर्मियों की हुई गिरफ़्तारी

Deepak dubey

Leave a Comment