Joindia
कल्याणक्राइमठाणेदेश-दुनियानवीमुंबईमुंबई

झूठ बोलकर की शादी फिर करने लगे प्रताड़ित

मुंबई। शादी होने के बाद पीड़ित महिला को प्रताड़ित करनेवाले पती के साथ ससुराल वालों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज की है। इस मामले में पीड़ित महिला का पती के परिवार वालो से ऑनलाइन साइड शादी डॉट कॉम पर परिचय होने के बाद दोनों परिवार की सहमति से विवाह हुई थी। इस दौरान धोखेबाज पती ने पीड़िता को बताया था कि वह एक प्राईवेट लॉ फॉर्म में काम करने के साथ उसका आयुर्वेदिक कंपनी चालू किया है। लेकिन बाद में लड़का बेरोजगार होने के साथ ससुराल वालों द्वारा प्रताड़ित किया जाने लगा। जिसके बाद पीड़ित महिला ने ससुराल वालों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है।

सोशल मीडिया वर्तमान में वरदान के साथ अभिशाप बन गया है। सोशल मीडिया ने नागरिको के कार्य को आसान तो बनाया है, लेकिन सोशल मीडिया लोगो को आलसी भी बना दिया है। जिसका खामियाजा वर्तमान में लोग भुगत रहे है. ऐसा ही मामला पनवेल से सामने आया है। प्राप्त जानकारी अनुसार पनवेल के खांदा कॉलोनी में रहनेवाली पीड़ता का विवाह बांद्रा के रहनेवाले विप्लव सावंत से वर्ष 2017 में हुई थी। इनका परिचय ऑनलाइन साइट शादी डॉट कॉम पर हुई थी। इस दौरान उसने बताया था कि वह एक निजी लॉ फार्म में काम करता है और आयुर्वेदिक फेक्ट्री डाल रखा है। इस दौरान पीड़िता ने उसपर विश्वास कर शादी के लिए राजी हो गई. इसके बाद इनकी मांगनी हुई। उस दौरान मंगनी का खर्च दोनों परिवारों को मिलकर करना था।

हालांकि उस समय मात्र पीड़िता के परिवार ने ही खर्च किया। इसके अलावा इसके बाद से ही विप्लव के परिवार वालो से धमकी मिलनी शुरू हो गई। जिसके बाद पीड़िता को शादी के लिए मनाई करनी चाहिए थी, हालांकि माना करने के बजाय आगे शादी का भी खर्च पीड़िता के परिवार वालो ने उठाया। इसके बाद से पीड़िता की नौकरी छुड़वाकर घर का कार्य कराने के सात प्रताड़ित करना शुरू हुआ। इस दौरान पीड़िता को पता चला कि शादी के समय जो उसे बताया गया था वह सब झूठ था, जबकि सच यह था कि विप्लव बेरोजगार था और माता पिता उसका खर्च उठा रहे थे। इतना ही नही उलटा विप्लव के पालक पीड़िता के पालक से ही पीड़िता का खर्च का पैसा मांगने लगे। इस दौरान पीड़िता के पिता ने अढ़ाई लाख रुपये दिए थे। इसके बावजूद आये दिन गाली-गलौज मानशिक और शारीरिक प्रताड़ित किया जाने लगा। इसी बीच पीड़िता की एक लड़की हुई। लेकिन लड़की होने के कारण पीड़िता को और प्रताड़ित किया जाने लगा। जिसके बाद परेशान पीड़िता ने पुलिस से शिकायत की थी। शिकायत मिलते ही नवी मुंबई पुलिस की महिला सहायता कक्ष ने उन्हें समझाने की कोशिश की लेकिन इसके बावजूद जब कोई बदलाव नही आया तो पुलिस ने पीड़िता के पति विप्लव सावंत, ससुर पंडित सावंत, सास लेनिना सावंत और ननद अक्षरा सावंत के लिए मामला दर्ज की है।

Related posts

हमारी कुछ कलाकृतियां बेच दी गईं, लेकिन नई कलाकृतियां तैयार करने का साहस

Deepak dubey

‘The Kashmir Files’ चंडीगढ़ में हो टैक्स फ्री: भाजपा शासित 4 राज्य कर चुके हैं टैक्स मुक्त; शहर की सांसद के पति लीड रोल में

cradmin

डेस्टिनेशन शादियों के लिए देश में ही सैंकड़ों स्थान उपलब्ध

Deepak dubey

Leave a Comment