Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियामुंबई

TASK FORCE: पुरानी टास्क फोर्स बरखास्त कर बनाई केवल सरकारी डॉक्टरों की टास्क फोर्स

Advertisement

मुंबई। कोविड(covid )का मुकाबला करने के लिए महाविकास अघाड़ी सरकार(Mahavikas Aghadi Government)ने सभी क्षेत्रों में पूर्ण अनुभव वाले डॉक्टरों की एक टास्क फोर्स का गठन किया था। लेकिन मौजूदा सरकार ने पुनर्गठन के नाम पर अनुभवी डॉक्टरों की टास्क फोर्स को खत्म कर दिया है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के पूर्व प्रमुख डॉ. रमन गंगाखेड़कर को नियुक्त किया गया है लेकिन कोविड से लड़ने का लंबा अनुभव हो ऐसे मुंबई के एक भी डॉक्टर शामिल नहीं है।

Advertisement

महाराष्ट्र स्वास्थ्य विज्ञान विद्यापीठ नासिक के कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल डॉ. माधुरी कानिटकर(Vice Chancellor of Maharashtra University of Health Sciences, Nashik, Lieutenant General Dr. Madhuri Kanitkar)  भी इस टास्क फोर्स की सदस्य होंगी। साथ ही चिकित्सा शिक्षा और अनुसंधान निदेशालय मुंबई (डीएमईआर) के निदेशक बी.जे. मेडिकल कॉलेज पुणे डॉ. डॉ. राजेश कारकटे, नवले मेडिकल कॉलेज वर्षा पोतदार, नवले मेडिकल कॉलेज के डॉ. डीबी कदम भी सदस्य होंगे। स्वास्थ्य सेवा एवं मिशन निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन मुंबई के आयुक्त इस टास्क फोर्स के सदस्य सचिव होंगे।

सभी क्षेत्रों मे अनुभवी डॉक्टरों का बनाया था टास्क फोर्स

कोरोना की पहली लहर में तत्कालीन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, केईएम के पूर्व डीन डॉ. पहली टास्क फोर्स का गठन संजय ओक की अध्यक्षता में किया गया था| इस टास्क फोर्स में डाॅ. ओम श्रीवास्तव, डाॅ. राहुल पंडित, डाॅ. अविनाश सुपे, डाॅ. शशांक जोशी आदि सभी क्षेत्रों के विशेषज्ञ शामिल थे।कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों की सुरक्षा के लिए महाविकास अघाड़ी, हिंदुजा अस्पताल के बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. सुहास प्रभु की अध्यक्षता में एक टास्क फोर्स का गठन किया गया।इसमें राज्य के विभिन्न हिस्सों से 13 शिशु रोग विशेषज्ञ शामिल थे। इस टास्कफोर्स में शामिल डॉक्टरों पर कोई संदेह नहीं है लेकिन मुंबई के निजी डॉक्टरों को भी शामिल करना जरूरी है | महाविकास अघाड़ी सरकार के दौरान स्थापित डॉक्टरों ने कोरोना को नियंत्रण में लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इस टास्क फोर्स की विश्व स्तर पर सराहना हुई। लेकिन यह सरकार पिछली टास्क फोर्स को पूरी तरह से खारिज कर दिया है।

Advertisement

Related posts

MUMBAI: वॉटर टैक्सी का फ्लॉप शो!, नहीं मिला मुंबई मंडावा रूट पर भाव, कनेक्टिविटी बनी बड़ी वजह

Deepak dubey

दाऊद के साले का कत्ल، गोली मारकर उतारी मौत के घाट

Deepak dubey

possibility of riots in maharashtra: महाराष्ट्र में दंगे बढ़ेंगे, ऐसा दबी आवाज में बोला जा रहा है!, अजीत पवार ने दी सतर्क रहने की चेतवानी

Deepak dubey

Leave a Comment