Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियामुंबई

BDD MOVE REDEVELOPMENT: बीडीडी चाल पुनर्विकास परियोजना को मिली गति, चालक 2026 तक एक विशाल घर का सपना देखते हैं पूरा होगा

Advertisement
Advertisement

मुंबई। दक्षिण मुंबई के वर्ली(worli), नायगांव(Naigaon)और एन एम जोशी मार्ग पर बीडीडी चाल पुनर्विकास परियोजना के काम में तेजी आ गई है। पिद्यनपडिया में 160 वर्ग फुट के मकानों में रहने वाले चालकरों का सपना अब महज दो साल में पूरा हो जाएगा और उन्हें 2026 तक इन मकानों पर कब्जा मिल जाएगा।

वर्ली, नायगांव और नायगांव मुंबई के केंद्र में स्थित हैं। एम। जोशी मार्ग पर बन रही बीडीडी चाल पुनर्विकास परियोजना करीब 92 एकड़ क्षेत्र में बनाई जा रही है। बीडीडी चल पुनर्विकास परियोजना देश की सबसे बड़ी शहरी पुनर्जनन परियोजना है। इस परियोजना के तहत बीडीडी चाली के निवासियों को 500 वर्ग फुट के विशाल फ्लैट निःशुल्क उपलब्ध कराए जाएंगे। इस प्रोजेक्ट के तहत वर्ली में 9 हजार 689 पुनर्वास फ्लैट बनाए जाएंगे. वर्ली में 54 एकड़ भूमि पर 121 चालिस के पुनर्विकास से 43 टावरों का निर्माण किया जाएगा। इनमें से 40 मंजिल के 33 टावर निवासियों के लिए और 70 मंजिल के 10 टावर बिक्री के लिए उपलब्ध होंगे। फिलहाल एक टावर का काम अंतिम चरण में है। नहीं एम। जोशी मार्ग पर बीडीडी चाल पुनर्विकास परियोजना के तहत 2560 पुनर्वास फ्लैटों का निर्माण किया जाएगा और पहले चरण के तहत कुल 7 विंगों में से 4 विंगों के बेसमेंट का काम प्रगति पर है। नायगांव में 3344 पुनर्वास फ्लैटों की योजना बनाई गई है और पहले चरण में आठ पुनर्वास भवनों में से 5 का निर्माण कार्य चल रहा है।

म्हाडा के उपाध्यक्ष संजीव जयसवाल अक्टूबर माह में वर्ली, नायगांव और ना. एम। जोशी मार्ग ने तीन परियोजनाओं के प्रथम चरण के तहत बन रहे भवनों का निरीक्षण करते हुए निर्माण की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया। साथ ही, पुनर्वास फ्लैटों के निर्माण को प्राथमिकता देकर इस परियोजना को 2026 तक पूरा करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए गए।

Advertisement

Related posts

Shivsena vs BJP : नकली हिंदुत्व वालों हम गदाधारी हैं, टकराओगे तो देखोगे ये रूप- उद्धव ठाकरे

dinu

Injection scam in saifi hospital: फर्जी इंजेक्शन मामले में तीन गिरफ्तार

Neha Singh

इंदौर में कार से मिला 3.72 करोड़ का सोना, मुंबई का व्‍यापरी गिरफ्तार

Deepak dubey

Leave a Comment