Joindia
कल्याणक्राइमठाणेदेश-दुनियानवीमुंबईमुंबईसिटी

The Mumbra Story: द मुंब्रा स्टोरी.. 400 से अधिक बच्चो का धर्मातरण,

Advertisement

मुंबई। धर्मांतरण (conversion) पर आधारित विवादास्पद फिल्म ‘द केरल स्टोरी’ (the keral story) के बाद अब ‘द मुंब्रा स्टोरी’ ( The Mumbra Story) लोकप्रिय हो रही है। चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है कि मुंब्रा के एक युवक ने ऑनलाइन गेम की आड़ में 400 से ज्यादा बच्चों का ब्रेनवाश कर धर्म परिवर्तन (400 conversion ) कराया है। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने मामले का खुलासा किया और संवेदनशील मुंब्रा फिर से सुर्खियों में है। इस धर्मांतरण के सूत्र जैसे ही मुंब्रा पहुंचे, पूरे देश में हड़कंप मच गया और गाजियाबाद पुलिस की एक टीम भी यहां जांच के लिए पहुंची है ऑनलाइन धर्मांतरण का आरोपी शाहनवाज मकसूद खान फरार है। इसलिए इस मामले की गुत्थी बढ़ गई है और इस बात की प्रबल संभावना है कि इस धर्मांतरण के पीछे मुंब्रा के कुछ और लोगों का हाथ होने का संदेह जताई जा रही है।

Advertisement

हमेशा किसी न किसी रूप में चर्चा में रहने वाला मुंब्रा अब ऑनलाइन गेम पर आधारित धर्मांतरण के कारण चर्चा में है। उत्तर प्रदेश की गाजियाबाद पुलिस के संज्ञान में यह बात आई है कि मोबाइल फोन पर खेले जाने वाले गेम का इस्तेमाल धर्मांतरण के लिए किया जा रहा है। पुलिस ने जांच के बाद एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। पूरी तरह से पूछताछ करने पर उसने कबूल किया कि इस मामले में अन्य साथी मुंब्रा का शाहनवाज मकसूद खान था। इसी सूचना के आधार पर गाजियाबाद पुलिस की एक टीम जांच के लिए मुंब्रा में दाखिल हुई है, लेकिन शाहनवाज पहले ही फरार हो चुका है।

शैम्पू बनाने के व्यवसाय के आड़ में धर्मांतरण

मुंब्रा के देवरीपाड़ा में साजिया इमारत कें पहले मंजिल पर
शाहनवाज अपने परिवार के साथ रहता था। उसके तीन भाई और मां का परिवार है। उनका हर्बल शैंपू बनाने का कारोबार है और पिछले हफ्ते से उनका घर बंद है। गाजियाबाद पुलिस ने पड़ोसियों से पूछताछ की लेकिन यह नहीं बता सकी कि शाहनवाज और उसका परिवार कहां गया है।पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि शैंपू का धंधा चलाने के दौरान शाहनवाज के दिमाग में ऑनलाइन धर्मांतरण का विचार कैसे आया।

ऐसे थी मोड्स ऑपरेंडीस
ऑनलाइन गेम बच्चों द्वारा व्यापक रूप से खेले जाते हैं। उसी का फायदा उठाकर शाहनवाज खान ने फर्जी यूजर आईडी बना ली। गाजियाबाद में गिरफ्तार उसके साथी के मुताबिक उसने इसी के आधार पर धर्मतारा की योजना बनाई।उनकी जानकारी के मुताबिक शाहनवाज ने सबसे पहले महाराष्ट्र के बच्चों को ऑनलाइन गेम खेलने की आदत डाली थी। खेल में पैसा गंवाने के बाद शाहनवाज खेल खेलने वाले बच्चों से कहा करता था कि ‘कलमा’ पढ़ोगे तो जीत जाओगे। यदि खेल खेल रहे लड़के ने कलमा का पाठ किया, तो वह जीत जायेंगे। इसलिए हर बार ऑनलाइन गेम खेलने वाले जीतने के लिए ‘कलमा’ सुनाते थे। उसके साथी ने पुलिस को बताया कि शाहनवाज ने कलमा पढा कर 400 से ज्यादा बच्चों का ब्रेनवॉश कर धर्मांतरण कराया था। गाजियाबाद पुलिस ने खुद कहा है कि शाहनवाज की इन बच्चों को सीधे दुबई ले जाने की योजना थी।

पुलिस कमिश्नर के ‘कान पर हाथ’

ऑनलाइन धर्मांतरण मामले का आरोपी मुंब्रा में रहता है और उसकी तलाश में गाजियाबाद पुलिस थाने पहुंच गई हैइस धर्मांतरण की खबरें मीडिया में दिन भर चलती रहीं, लेकिन मुंब्रा की पुलिस यह बताने से इनकार कर रही है कि इस मामले में असल सच्चाई क्या है। ठाणे पुलिस कमिश्नर जयजीत सिंह ने ‘कानों पर हाथ’ रख लिया है, जिससे इस मामले का शक और भी पुख्ता हो गया है।

मुंब्रा बंद की चेतावनी

राष्ट्रवादी कांग्रेस के विधायक जितेंद्र आव्हाड ने चेतावनी दी है कि राज्य के पुलिस महानिदेशक रजनीश सेठ और ठाणे के पुलिस आयुक्त जयजीत सिंह को धर्मांतरण के बारे में सच्चाई बतानी चाहिए अन्यथा 1 जुलाई को मुंब्रा बंद कर दिया जाएगा।

CRIME : महिला की हत्या कर आरी से किए शरीर के 120 टुकड़े, रोज लगा रहा था टुकड़ों का ठिकाना, बचे हुए टुकड़े को ग्राइंडर में पीस दिया

Sperm donation : आधार सख्ती से बंद हो रहे स्पर्म बैंक

Advertisement

Related posts

Cruel Nurse: Savitribai Phule Maternity Hospital में घिनौना प्रकार, रो रहे नवजात के मुंह पर नर्स ने चिपका दी पट्टी

Deepak dubey

MUMBAI : फ्लाइट की लैंडिंग से पहले यात्री ने खोला इमरजेंसी गेट , पुलिस ने लिया एक्शन

Deepak dubey

पिंपरी चिंचवाड़ में रद्द हुई आरोग्य सेविका भर्ती परीक्षा: नाराज अभियार्थियों ने महानगर पालिका कैंपस में किया प्रोटेस्ट

cradmin

Leave a Comment