Joindia
कल्याणक्राइमठाणेदेश-दुनियामुंबईसिटी

Drone, 500 GB data and bomb making circuit recovered by ATS from arrested terrorists flat:ड्रोन, 500 जीबी डेटा और बम बनाने का सर्किट, गिरफ्तार आतंकियों के फ्लैट से एटीस ने बरामद

Advertisement

मुंबई ।(Drone, 500 GB data and bomb making circuit recovered by ATS from arrested terrorists flat) एटीस ने पुणे के कोथरूड से आइसिस से जुड़े दो आतंकियों को गिरफ्तार किया था। इन तीनो संदिग्ध आतंकियों के फ्लैट से कई वस्तुएं बरामद की हैं। तीनों संदिग्ध आतंकी पुणे के कोंडवा इलाके में चेतना गार्डन सोसायटी के फ्लैट मे रहते थे। इस फ्लैट से एटीएस ने एक अत्याधुनिक ड्रोन जब्त किया है।तीनों संदिग्ध आंतकियों को आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने की एडवांस ट्रेनिंग लिए जाने की जानकारी जांच के दौरान एटीएस को दोनों आतंकियों ने बताई है।

Advertisement

जानकारी अनुसार तीसरे फरार संदिग्ध आंतकी का नाम शहानवाज आलम होने की जानकारी एटीएस ने आज मीडिया को बताई है।इससे इसके साथी तक पहुंचने में एटीएस को सफलता मिल सकती है। तीसरा व्यक्ति जिसने इन तीनों को घर दिलाने में मध्यस्थता की थी उसका नाम पठाण हैं और उसे एटीएस द्वारा गिरफ्तार किया गया है। चौथा मदद करने वाला रत्नागिरी का रहने वाला है, और इसने तीनों संदिग्ध आतंकियों को पैसे देकर मदद की है।इसकी पहचान काझी के नाम से हुई है।

संदिग्धों के फ्लैट से मिला 500 जीबी डेटा

एटीएस को इस फ्लैट से 500 जीबी डेटा मिला है जिसे एनालिसिस करना है। ये 500 gb डाटा एफएसएल को भेजा गया है। एटीएस को इस फ्लैट से बम बनाने का सर्किट मिला है। ये तीनो संदिग्ध आतंकी ब्लास्ट की टेस्टिंग जंगल में किया करते थे।इसके लिए तीनों जंगल में ही जाकर टेंट बनाकर रहते थे।होटल में रहने से इनकी पहचान हो सकती थी। पुलिस को उनके फोटो, चेक इन के दौरान सीसीटीवी फुटेज भी मिल सकता था, इसलिये जंगल में टेंट में रहते थे।ब्लास्ट टेस्टिंग के बाद उसकी क्षमता परखने के लिए जंगल मे ही टेंट में रुकते थे। महाराष्ट्र एटीएस टीम इन चार संदिग्ध आतंकियों के अलावा अन्य संदिग्धों की तलाश में भी जुटी है।

बता दें कि महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधी दस्ते ने पुणे से कुछ संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया था।इनके साथ यहूदी सामुदायिक केंद्र की तस्वीरें पाए जाने के बाद मुंबई पुलिस ने कोलाबा में चाबड़ हाउस के पास सुरक्षा बढ़ा दी थी।कोलाबा में चाबड़ हाउस पहले भी 26/11 के आतंकवादी हमलों के दौरान आतंकवाद का लक्ष्य रहा है और तब से इमारत पर 24/7 पुलिस की उपस्थिति के साथ एक उच्च सुरक्षा रही है। पुलिस ने इन्हीं आतंकियों के फ्लैट से सामान बरामद किया है।

चाबड़ हाउस की मिली थी तस्वीर
चाबड़ हाउस और इससे जुड़ी तस्वीरें देखने के बाद एटीएस अधिकारियों ने मुंबई पुलिस अधिकारियों को सूचित किया और मुंबई के दक्षिण क्षेत्र की पुलिस ने कोलाबा के चाबड़ हाउस में सुरक्षा और चौकसी बढ़ा दी। चाबड़ हाउस में रब्बी और उनकी पत्नी स्थानीय यहूदी समुदाय और पर्यटकों के लिए विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों, गतिविधियों और सेवाओं की मेजबानी करते हैं
केंद्र यहूदी धर्म का पालन करने के लिए शिक्षा और स्थान भी देता है।अह अल सुफा आतंकी मॉड्यूल या आईएसआईएस के रतलाम मॉड्यूल की जांच कर रही महाराष्ट्र एटीएस ने जहां कुछ संदिग्ध आतंकी राजस्थान में आतंकी हमले शुरू करने की योजना बना रहे थे, पुणे पुलिस से दो संदिग्धों को हिरासत में लिया। 18 जुलाई को लगभग 2.30 बजे पुणे पुलिस ने बाइक चोरी के आरोप में मोहम्मद इमरान यूसुफ खान और मोहम्मद यूनुस मोहम्मद याकूब साकी नाम के 2 आरोपियों को गिरफ्तार किया। आगे की जांच के दौरान पता चला कि दोनों एनआईए की मोस्ट वांटेड लिस्ट में थे।दोनों मध्य प्रदेश के रतलाम के मूल निवासी हैं और उनका तीसरा साथी तब भागने में सफल रहा था।

PMAY: अंतर्गत सिडको के 7849 घरों की निकलेगी मेगा लॉटरी ,

Advertisement

Related posts

Scams on road repair work: मुंबई के सड़क घोटालों की हो गहन जांच, आप पार्टी की मांग

Deepak dubey

APMC MARKET: थोक में गिरावट के बावजूद खुदरा बाजारों में सब्जियों की कीमत में तेजी

Deepak dubey

Shivadi-Nhavashiva bridge stuck: एमटीएचएल’ का बढ़ा इंतजार, प्रशासन की लापरवाही, छह महीने की डेडलाइन बढ़ी, 18 किमी लंबी है यह समुंद्री पुल योजना

Deepak dubey

Leave a Comment