Joindia
देश-दुनियामुंबई

ISIS: आईएसआईएस ने तैयार किया महिला विंग  !अलर्ट पर एनआईए 

मुंबई।(ISIS) उच्च शिक्षित युवाओं(highly educated youth)का ब्रेन वॉश कर देश विरोधी कृत्य को अंजाम दिलाने वाले  आतंकी संगठन(terrorist organization)आइसिस ने अब कई महिलाओं को भी आतंक के नेटवर्क से जोड़ कर वूमैनिया ब्रिगेड तैयार किया है इतना ही नही इन्हे एक्टिव भी कर दिया गया है। एनआईए के मुंबई यूनिट की प्रारंभिक जांच में इसके साक्ष्य मिले हैं। इस ब्रिगेड को झारखंड से गिरफ्तार आइसिस आतंकी शाहनवाज की पत्नी और उसकी बहन द्वारा चलाए जाने का संदेह है जिसके बाद अब उनके तलाश में एनआईए जुटी हुई है।सूत्रों की माने तो शाहनवाज की पत्नी पहले हिंदू थी शादी के बाद उसका धर्म बदलवाकर इस्लाम धर्म बदलवाकर उसका नाम मरियम रखा है।

पुणे के बहुचर्चित आतंकी आईएस मॉड्यूल मामले में जांच कर रही महाराष्ट्र एनआईए ने झारखंड के हजारीबाग के आतंकी शहनवाज आलम को रिमांड पर ले लिया है। उससे मुंबई में पूछताछ चल रही है। इस साल 18 जुलाई को पुणे में टू-व्हीलर चुराने के मामले में पुणे पुलिस ने शाहनवाज और मध्यप्रदेश के दो लोगों मोहम्मद इमरान खान और मोहम्मद साकी को गिरफ्तार किया था। जब पुलिस पूछताछ के लिए उन्हें उनके ठिकाने पर ले जा रही थी तो शाहनवाज पुलिस की गाड़ी से कूदकर फरार हो गया।मोहम्मद इमरान खान और मोहम्मद साकी से पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि दोनों सुफा टेररिस्ट गैंग का हिस्सा हैं। अप्रैल 2022 में राजस्थान में एक कार में विस्फोटक मिलने के मामले में वहां की पुलिस उन्हें ढूंढ रही है। तब पुलिस ने इस मामले को पुणे आइसिस मॉड्यूल केस नाम दिया। इस केस में पुलिस ने तीन और आतंकियों को मोस्ट वांटेड लिस्ट में रखा था। इनके नाम हैं- पुणे का तल्हा लियाकत खान और दिल्ली का रिजवान अब्दुल हाजी अली और अब्दुल्ला फैयाज शेख। एनआईए का कहना है कि इमरान, यूनुस और शाहनवाज के लिंक पुणे की आइटी फर्म में काम करने वाले इंजीनियर जुल्फिकार अली बोर्डवाला से हैं। जुल्फिकार को आइसिस से जुड़े एक केस में 3 जुलाई को गिरफ्तार किया गया था। वो मुंबई की आर्थर रोड जेल में बंद है।

जुल्फिकार केस का मास्टरमाइंड 

सूत्रों की माने तो जुल्फिकार ही इस केस का मास्टरमाइंड और फाइनेंसर है। उसने इमरान, यूनुस और शाहनवाज को ट्रेनिंग दिलवाई और पैसे भिजवाए थे। इमरान तक पैसे पहुंचाने वाला कदीर दस्तगीर पठान को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। चारों से हुई पूछताछ में राष्ट्रीय जांच एजेंसी को डॉ. अदनान का नाम मिला। इसके बाद एनआईए ने उसके फ्लैट पर छापा मारा तो आइसिस से जुड़े दस्तावेज मिले।

आइसिस के निशाने पर भारतीय और इजरायल नागरिक

एनआईए ने अदनान के सभी इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स जब्त कर लिए। सेंट्रल जांच एजेंसी से जुड़े एक अधिकारी ने बताया कि अदनान के पास मिले डॉक्यूमेंट से पता चला कि उसका संबंध आइसिस से है। इसमें गरीब नौजवानों को आतंकी संगठन से जोड़ने की डिटेल भी है। इसके अलावा 4 आरोपियों से यहूदी कम्युनिटी सेंटर की फोटो मिली है। इससे साफ हो गया कि आइसिस के निशाने पर भारत ही नहीं, इजरायल के लोग भी हैं।

BJP vs SHIVSENA: आपके घर मे क्या चल रहा है वह देखे , संजय राउत ने अमित शाह पर कसा तंज 

Related posts

School bus owner association: पुलिस से परेशान, करेंगे ‘बंद’

Deepak dubey

‘The Kashmir Files’ चंडीगढ़ में हो टैक्स फ्री: भाजपा शासित 4 राज्य कर चुके हैं टैक्स मुक्त; शहर की सांसद के पति लीड रोल में

cradmin

Ashvamedha Yagya: अश्वमेध यज्ञ के लिए डॉ चिन्मय पंड्या ने राज्यपाल और मुख्यमंत्री,उपमुख्यंत्री से की मुलाकात

Deepak dubey

Leave a Comment