Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियामुंबईसिटी

Mumbai-Goa Highway: मुंबई-गोवा हाईवे पर गड्ढों का साम्राज्य; एसटी में ही महिला की डिलीवरी, ड्राइवर कैरियर की घटना से बची जान

Advertisement

रायगढ़।(Mumbai-Goa Highway) एक तरफ जहां मुंबई-गोवा नेशनल हाईवे का मुद्दा काफी चर्चा का विषय बना हुआ है, वहीं इसी हाईवे पर सफर कर रही एक महिला ने एसटी में बच्चे को जन्म दिया है. पनवेल-महाड एसटी बस में ड्यूटी पर मौजूद चालक-परिचालक ने तुरंत महिला को कोलाड अंबेवाडी के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। कोलाड अंबेवाड़ी के एक अस्पताल में इलाज के बाद, बच्चे की हालत गंभीर थी, इसलिए महिला को तुरंत अलीबाग के उपजिला अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया। यह घटना 9 सितंबर रविवार देर शाम की है।

Advertisement

प्राप्त जानकारी के अनुसार, महाड एसटी आगर के चालक गोविंद जाधव और वाहक नामदेव पवार जब रायगढ़ जिले में अपनी ड्यूटी क्रमांक 47/48 कर रहे थे, तभी एक महिला यात्री को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। महिला ने इसी बस में बच्चे को जन्म दिया जो मूल रूप से रोहा आगरा की थी. ड्राइवर जाधव और वाहक पवार, जो अपने कर्तव्यों में मेहनती थे, एक पल की भी देरी किए बिना महिला को कोलाड के सरकारी अस्पताल ले गए। जैसे ही बच्चा और मां दोनों सुरक्षित अस्पताल पहुंचे तो बस में सवार अन्य यात्रियों ने भी उन्हें धन्यवाद दिया।

रोहा के साथ-साथ महाड एसटी आगर प्रशासन ने इस महत्वपूर्ण अवसर पर ड्राइवर और वाहक द्वारा दिखाई गई समय की पाबंदी की सराहना की है। गर्भवती महिला का नाम सुशीला रवि पवार (शेष रूद्रोली) है। शनिवार दोपहर लंच के बाद पनवेल महाड एसटी पेन वडखाल से कोलाड जाने के लिए रवाना हुई। शाम 6 बजे इस एसटी बस में यात्रा करते समय। पुई महिसदरा, कोलाड के पास, पुल पर एक गड्ढे के माध्यम से अपना रास्ता बना रहा था। इसी दौरान अचानक महिला के पेट में दर्द होने लगा। यह महसूस करते हुए कि वह प्रसव पीड़ा में है, एसटी चालक गोविंद जाधव और वाहक नामदेव पवार एसटी बस को अंबेवाडी के सरकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में ले आए। इससे बड़ा हादसा टल गया। उनके काम की काफी सराहना की जाती है।

हालांकि इस घटना के बाद मुंबई-गोवा नेशनल हाईवे पर गड्ढों को लेकर गहरा गुस्सा जताया जा रहा है। आने वाले समय में और किस स्थिति का सामना करने के बाद क्या संबंधित नेताओं और ठेकेदार एजेंसियों की आंखें खुलेंगी? यह आक्रोशपूर्ण प्रश्न अब यात्री समुदाय पूछ रहा है।

Advertisement

Related posts

कुर्ला रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म पर पहुंचा ऑटो रिक्शा

Deepak dubey

Health: हिंदुस्तान हुआ मोटापे का शिकार

Neha Singh

“वेदांता” मामले में मुख्यमंत्री शिंदे के आरोप पर अजीत पवार की खुली चुनौतीआरोप सिद्ध करके दिखाओ!

vinu

Leave a Comment