Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियामुंबईसिटी

CAIT: व्यापारी संगठनों ने रेलवे मंत्री से देर रात तक वाशी से थाने के लिए लोकल रेलवे चलाए जाने की मांग की

Advertisement

मुंबई ।(CAIT) कॉन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के महाराष्ट्र प्रदेश के महामंत्री एवं अखिल भारतीय खाद्य तेल व्यापारी महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष शंकर ठक्कर ने बताया नवी मुंबई वाशी जहां पर विभिन्न प्रकार की पांच बड़ी मंडियां है से देर रात काम कर व्यापारी और अलग-अलग कार्यालय में एवं आईटी कंपनियों के कर्मचारी एवं ठाणे बेलापुर जॉकी एशिया का सबसे बड़ा औद्योगिक क्षेत्र होने के नाते हजारों की संख्या में काम कर रहे लोग जो की थाने एवं आजू-बाजू के परिसर में रहते हैं उनके लिए आखिरी ट्रेन रात 11:27 मिनट पर है इसके बाद कोई ट्रेन ना होने से इन प्रवासियों को बहुत सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसलिए हमने रेलवे मंत्री अश्विनी वैष्णवजी को पत्र भेजकर इन प्रवासियों की परेशानियों को दूर करने के लिए अंतिम ट्रेन कम से कम रात 12:00 बजे तक चलाई जाने की मांग की है।

Advertisement

कैट के महाराष्ट्र प्रदेश के वरिष्ठ अध्यक्ष महेश बखाई ने कहा बेलापुर औद्योगिक क्षेत्र यह कई वर्षों पूर्व शुरू हुआ था और तब नवी मुंबई में निवासी क्षेत्र इतना डेवलप नहीं हुआ था इसलिए बड़ी संख्या में लोग थाने एवं आजू-बाजू के परिसर से काम के लिए जा रहे थे इसके बाद एपीएमसी मंडी स्थानांतरित होने पर उसके संबंधित व्यापारी एवं उनके कर्मचारी भी बड़ी संख्या में मुलुंड एवं डोंबिवली परिसर में से आते हैं उसके बाद पिछले वर्षों में बड़ी संख्या में आईटी कंपनियों ने अपने कामकाज शुरू किया है इन में काम करने वाले खासकर महिला एवं युवा लोगों की भी बड़ी संख्या में नवी मुंबई की तरफ आवाजाही है इन सब की सुविधा के लिए रेलवे मंत्री ने तुरंत देर रात तक रेलवे चलाने की मंजूरी देनी चाहिए।

Lalbaugcha Raja: भारी भीड़, भारी धक्का-मुक्की, वीवीआईपी के लिए विशेष व्यवस्था, बूढ़े, छोटे के लिए कुछ नहीं; लालबाग राजा के मंडल के खिलाफ पुलिस आयुक्त से शिकायत

गद्दारी, दगाबाजी और स्वार्थ का अर्थ हिंदुत्व नहीं!

Advertisement

Related posts

Uddhav Thackeray at the comedy fair: अवली, लवली और जनता ‘कावली’; हास्य मेले में उद्धव ठाकरे का संवाद

Deepak dubey

Bollywood: अक्षय कुमार फुकरे के डायरेक्टर मृगदीप सिंह लांबा और प्रोड्यूसर महावीर जैन के साथ मिलकर काम करेंगे!

Deepak dubey

बेस्ट बस की घटती संख्या से मुंबईकर परेशान निजीकरण, के तरफ हो रहा बेस्ट का झुकाव – 65 फ़ीसदी बसें है वेट लीज – 10 सालों में 1600 बसें हुई कम – 4657 बसों से घटकर वर्तमान संख्या 3051

Deepak dubey

Leave a Comment