Joindia
कल्याणक्राइमठाणेदेश-दुनियानवीमुंबईमुंबईसिटी

Miraroad case: एडिक्ट था मनोज साने !, डेटिंग एप्प पर महिलाओ से चैटिंग के लिए करता था सरस्वती के मोबाइल इस्तेमाल 

Advertisement

मुंबई। मीरा रोड में सरस्वती वैद्य की हत्या से पूरा देश स्तब्ध है। (Miraroad case

Advertisement
)मनोज साने ने अपनी लिव-इन पार्टनर सरस्वती वैद्य की हत्या कर दी। इसके बाद उसने अपने शरीर के टुकड़े-टुकड़े कर दिए। इन टुकड़ों को कुकर में पकाया जाता है, गैस पर भून लिया जाता है, मिक्सर में पीस लिया जाता है। पड़ोसियों को बदबू आने लगी तो उन्होंने मनोज साने से इस बारे में पूछा। लेकिन वह टाल गया। उसके बाद इसकी सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस जब घर में दाखिल हुई तो पूरा नजारा देख सन्न रह गई। घर में शरीर के कई टुकड़े थे। ये टुकड़े बर्तनों और बाल्टियों में थे। इस मामले में मनोज को गिरफ्तार किया गया है। अब पुलिस की जांच में खुलासा हुआ है कि मनोज साने डेटिंग एप पर सक्रिय था। पुलिस ने यह भी कहा है कि वह सरस्वती का मोबाइल फोन भी इस्तेमाल कर रहा था।

मनोज साने डेटिंग ऐप्स पर सक्रिय हैं
साने ने कुछ साल पहले वसई के तुंगारेश्वर के एक मंदिर में सरस्वती से शादी की थी। दोनों के बीच मतभेद थे। डेटिंग ऐप्स पर सक्रिय थे मनोज साने पुलिस उसके मोबाइल फोन डिटेल्स (सीडीआर) के आधार पर उसके संपर्कों के बारे में पूछताछ कर रही है। इतना ही नहीं पुलिस ने बताया कि सरस्वती का मोबाइल फोन भी मनोज साने इस्तेमाल करता था। पुलिस ने यह भी जानकारी दी है कि सरस्वती की बहन ने दो साल पहले आत्महत्या कर ली थी।

सरस्वती वैद्य के शव का अंतिम संस्कार
सरस्वती वैद्य के पार्थिव शरीर का सोमवार शाम रे रोड श्मशान घाट में अंतिम संस्कार किया गया। सरस्वती की बहनों की पहचान करने के बाद पुलिस ने उनका शव उन्हें सौंप दिया। सरस्वती वैद्य के शरीर के अंग पुलिस को 7 जून को मनोज साने के मीरा रोड स्थित घर से मिले थे। इस घटना का पता चलते ही उसकी तीन बहनों से संपर्क किया गया। जेजे अस्पताल में सरस्वती के शव का पोस्टमार्टम किया गया और शरीर के अंगों को एक साथ रखा गया। पुलिस ने सोमवार शाम कानूनी प्रक्रिया पूरी कर बहनों को उनके हवाले कर दिया। जेजे अस्पताल से शव मिलने के तुरंत बाद, उनकी बहन, कुछ रिश्तेदारों और अंपायरों की मौजूदगी में रे रोड श्मशान घाट में उनके शरीर का अंतिम संस्कार किया गया।

पुलिस ने 13 साक्ष्य जुटाए
सरस्वती के कथित पति मनोज साने ने उसकी हत्या करने के बाद शव को आरी से टुकड़े-टुकड़े कर ठिकाने लगाने की कोशिश की और कुकर में पकाया। मनोज साने द्वारा फेंका गया। पुलिस ने मनोज साने के घर से 13 अलग-अलग तरह के सबूत जुटाए हैं। इसमें कुकर, आरी, बाल्टी, पैन आदि शामिल हैं। संभावना जताई जा रही है कि हत्या से पहले सरस्वती को जहर दिया गया था और पुलिस इस संबंध में भी जांच कर रही है। पुलिस ने बताया कि मनोज साने भी गूगल पर इस संबंध में जानकारी हासिल कर रहा था।

 

Advertisement

Related posts

आफताब के लापता परिवार की मुंबई में तलाश, छतरपुर के तालाब में श्रद्धा का सिर खोज रही दिल्ली पुलिस

Deepak dubey

MMRDA: एमएमआरडीए के तीन रैंप तैयार, लेकिन आवागमन के लिए बंद, मुख्यमंत्री को समय नहीं मिलता

Deepak dubey

आरपीएफ जवान का दावा ,गोली उसने नहीं चलाई

Deepak dubey

Leave a Comment