Joindia
कल्याणदेश-दुनियानवीमुंबईमुंबईसिटी

Mahavitaran power cut: पहली बारिश में महावितरण की बिजली कटौती से जनता बेहाल, वाशी कार्यालय पर मोर्चा निकालने की तैयारी

Advertisement

नवी मुंबई। तुर्भे(Turbhe)की पहली बारिश में ही एमईसीबी(MECB)के प्री-मानसून(pre-monsoon)कार्य की पोल खुल लगी है। शनिवार शाम से बारिश शुरू होते ही तुर्भे इलाके की बिजली आपूर्ति बाधित हो गयी।(Mahavitaran power cut)जिसके बाद लगभग 9 घंटे लीपा पोती करने के बाद रविवार सुबह बिजली बहाल किया गया। लेकिन महावितरण के इस लीपा पोती से रहवासियों को अंधेरे में रात गुजारनी पड़ी। लेकिन अगले सप्ताह सभी विभागों में केबल की सुचारू आपूर्ति से यह समस्या हल हो जाएगी ऐसी प्रतिक्रिया महावितरण के कार्यकारी अभियंता श्यामकांत बोरसे ने दिया।इसके खिलाफ नागरिकों ने मोर्चा निकालने की तैयारी की है ।

Advertisement

तुर्भे मेफ्को एम.ई.सी.बी. क्षेत्र(Turbhe Mefco M.E.C.B. Area)में शनिवार शाम पहली भारी बारिश के दौरान सेक्टर 20, 21, 22 अन्नासाहेब पाटिल नगर, तुर्भे गांव आदि इलाको की बिजली आपूर्ति बाधित हो गई. इसी तरह गर्मी की शुरुआत से बिजली की मांग बढ़ने के कारण सेक्टर 21 के निवासियों को सप्ताह में कम से कम 6 दिन बिजली कटौती की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन यह रोना गाना मानसून आने के बाद भी जारी है. इस क्षेत्र में बिजली गुल होने की समस्या कब काफी हद तक बढ़ गई है। इन इलाकों में ग्राउंड फ्लोर के घरों को बहुमंजिला घरों में बदल दिया गया है।वहीं स्थानीय नागरिकों ने भी बिजली आपूर्ति बढ़ाने के लिए हर घर के लिए अलग-अलग बिजली मीटर भी लिया है। इसके लिए निवासियों ने महावितरण को पैसा भी जमा किया गया है. लेकिन अब पिछले कुछ वर्षों से विद्युत दबाव भी बढ़ गया है। इसलिए पुरानी बिजली लाइनें अतिरिक्त बढ़ा हुआ दबाव झेलने में सक्षम नहीं हैं। नतीजा गर्मी में बिजली के तार जलने की घटनाएं बढ़ गईं. इसके बाद पहली बारिश में ही ये भूमिगत विद्युत चैनल जगह-जगह जलने लगे हैं। इसलिए पिछले दो दिनों से तुर्भे इलाके में लगातार घंटो बिजली गुल हो रहा है।

महावितरण कार्यालय पर मार्च निकालने की तैयारी

शनिवार की शाम छह बजे बाधित हुई बिजली आपूर्ति रविवार की देर रात 2.30 बजे बहाल हुई। इसके बाद रविवार की सुबह आठ बजे फिर बिजली आपूर्ति शाम तक बहाल नहीं हुई। केबल में खराबी ढूंढने वाली मशीन का समय पर उपलब्ध न होना, केबल में खराबी पाए जाने पर केबल उपलब्ध नहीं होना, जहां जर्जर केबल को बदलने के लिए 25 से 30 मीटर केबल की आवश्यकता होती है, वहां महावितरण से संपूर्ण केबल उपलब्ध कराए बिना ठेकेदार द्वारा टुकड़ों को जोड़ समय निकाला जा रहा है. जिसके बाद लगातार बिजली कटौती के कारण सेक्टर 21 के नाराज निवासी वाशी महावितरण के कार्यालय के खिलाफ मार्च करने की तैयारी करने की जानकारी निवासी लक्ष्मण यादव ने दिया है।

बड़ी खबर! रश्मि ठाकरे के खिलाफ पुलिस में दर्ज होगी शिकायत; किरीट सोमैया थाने पहुंचे

Advertisement

Related posts

MUMBAI : असंगठित कर्मचारी को कुली के रूप में पत्र जारी करने में डाक विभाग का असहयोग

Deepak dubey

पानी से भरे खदान में दो युवक डूबे

Deepak dubey

MUMBAI: यूपी पर्यटन विभाग के उपनिदेशक विमलेश कुमार ने की आत्महत्या

Deepak dubey

Leave a Comment