Joindia
देश-दुनिया

इस गांव में महिलाओं को 5 दिनों तक रहना पड़ता है निर्वस्त्र , जानिए वजह

Advertisement

 

हिमाचल। हमारा देश परंपराओं, जातियों, कानूनों, रीति-रिवाजों और विविधताओं से भरा हुआ है। हमारी हिंदुस्तानी संस्कृति में इनका पालन प्राचीन काल से होता आ रहा है। लेकिन इनमें से कुछ परंपराएँ ऐसी दुनिया से अलग हैं जिनके बारे में हमने कभी नहीं सोचा होगा। भारत के एक गांव में एक अजीब परंपरा देखी जाती है। उस गांव में महिलाएं श्रावण माह में 5 दिन तक कपड़े नहीं पहनती हैं। ये महिलाएं ऐसा क्यों करती हैं? इसके पीछे भी कुछ कारण हैं।

Advertisement

यह प्रथा हिमाचल प्रदेश की मणिकर्ण घाटी के पीणी गांव में अपनाई जाती है। ज़ी न्यूज़ की रिपोर्ट के मुताबिक, इस गांव की महिलाएं श्रावण महीने में पांच दिनों तक नग्न रहती हैं। ऐसा माना जाता है कि अगर कोई महिला इस प्रथा का पालन नहीं करती है तो उसे कुछ ही दिनों में बुरी खबर सुनने को मिलती है। साथ ही इस परंपरा के तहत इस दौरान पूरे गांव में शादीशुदा जोड़े यानी पति-पत्नी एक-दूसरे से बिल्कुल भी बात नहीं करते हैं।

जी न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, इस गांव में महिलाओं की तरह पुरुषों को भी इन रीति-रिवाजों का पालन करना पड़ता है। इस दौरान मनुष्य शराब और मांस का सेवन नहीं कर सकता है। ऐसा माना जाता है कि अगर आप इन रीति-रिवाजों का पालन नहीं करते हैं तो देवता नाराज हो जाते हैं और आपको भारी नुकसान उठाना पड़ता है।

पांच दिनों तक नग्न रहने की इस प्रथा के पीछे एक इतिहास है। इस गांव में ‘लहुआ घोंड’ नामक देवता ने एक राक्षस का वध किया और गांव की रक्षा की। ये सभी राक्षस गांव से सुंदर कपड़े पहने विवाहित महिलाओं को उठाकर ले जाते थे। ‘लाहुआ घोंड’ नामक देवता इन राक्षसों से महिलाओं की रक्षा करते थे। उसी दिन से पीणी गांव में यह अजीब परंपरा शुरू हो गई।

Advertisement

Related posts

महाराष्ट्र में भाजपा की जीत का जश्न: गोवा के प्रभारी फडणवीस को किया गया सम्मानित, ढोल की थाप पर झूमे बीजेपी नेता; पूर्व सीएम ने कहा-यह झांकी, अब मुंबई बाकी

cradmin

OMG: इस बीमारी में खाना है हराम, 10 महीनों तक नहीं खाया अन्न, एक लाख में एक व्यक्ति को होता है रोग

dinu

फिर मुसीबत में भाई जान: साइकिलिंग करते हुए सलमान ने पत्रकार से बदसलूकी की थी, अदालत ने 5 अप्रैल को पेश होने को कहा

cradmin

Leave a Comment