Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियानवीमुंबईमुंबईहेल्थ शिक्षा

Rajawadi hospital work will be completed in two years: सुपर स्पेशलिटी होने की राह पर राजावाड़ी अस्पताल दो सालों में पूरा होगा अस्पताल का काम

Advertisement

पूर्व उपनगर समेत ठाणे और नई मुंबई के लोगों को होगा फायदा

Advertisement

मुंबई।(Rajawadi hospital work will be completed in two years) मुंबई के पूर्व उपनगर के कुर्ला(Kurla)से लेकर ठाणे(Thane)और नई मुंबई(Navi Mumbai)में रहनेवाले मरीजों को अत्याधुनिक सुविधाओं को मुहैया कराने के लिए घाटकोपर के राजावाडी अस्पतालों को सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में परिवर्तित करने का फैसला लिया गया है, जिसके विस्तारीकरण का काम दो सालों में पूरा किए जाने पर फोकस रहेगा। वहीं इससे अस्पताल की क्षमता भी बढ़ जाएगी।
उल्लेखनीय है कि वर्तमान में राजावाड़ी अस्पताल के ओपीडी में प्रतिदिन 2500 मरीज आते हैं, जबकि आईपीडी में 125 मरीज भर्ती होते हैं। फिलहाल अस्पताल की मौजूदा क्षमता 596 बेडो की है। क्योंकि अस्पताल में बड़ी संख्या में मरीज आ रहे हैं, इसलिए उन्हें बेहतर और अत्याधुनिक सुविधाएं प्रदान करने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए अस्पताल का विस्तार कर सुपर स्पेशलिटी अस्पताल की स्थापना की जाएगी। इस संदर्भ में अस्पताल प्रशासन और मनपा अधिकारियों को निर्देश दिए गए। इसके साथ ही यह भी कहा गया है कि इसके विस्तार का काम अस्पताल में वर्तमान में प्रदान की जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं को बाधित किए बिना तेजी से किया जाना चाहिए। फिलहाल अस्पताल का विस्तार चरणबद्ध तरीके से दो सालों में पूरा किया जाएगा। राजावाड़ी के सुपरस्पेशलिटी अस्पताल में परिवर्तित होते ही मरीजों को महंगा इलाज मुफ्त में उपलब्ध कराया जाएगा। इससे आम आदमी को राहत मिलेगी।

ऐसा होगा सुपरस्पेशलिटी अस्पताल

राजावाड़ी अस्पताल में वर्तमान में 596 बेड हैं, जबकि नवनिर्मित सुपरस्पेशलिटी अस्पताल में 424 बेड होंगे। इसलिए राजावाड़ी अस्पताल में बेड़ों की क्षमता बढ़कर 1020 पर पहुंच जाएगी। अस्पताल में आवश्यक चिकित्सा सेवाएं, कैथलैब, गहन देखभाल इकाई, ऑन्कोलॉजी, कार्डियोलॉजी, नेफ्रोलॉजी, न्यूरोलॉजी, गैस्ट्रोडोंटोलॉजी और पांच मॉड्यूलर सर्जरी विभाग होंगे।

दो माह में शुरू होंगी आवश्यक सेवाएं

राजावाड़ी अस्पताल के विस्तार का काम तेजी से चल रहा है। साथ ही आपातकालीन चिकित्सा सेवा विभाग का काम अगले दो महीनों में शुरू होने वाला है। राजावाडी अस्पताल की चिकित्सा अधीक्षक डॉ. भारती राजुलवाला के अनुसार बाकी काम अगले दो वर्षों की कलावधि में कई चरणों में पूरा किया जाएगा।

Death’s ‘speed boat ride’ on honeymoon:हनीमून पर मौत का ‘स्पीड बोट राइड’ !

Advertisement

Related posts

महाराष्ट्र बजट 2022-23: 24 हजार करोड़ रुपए के घाटे का बजट पेश, महिलाओं, किसानों और गरीबों के लिए कई पैकेज का ऐलान

cradmin

यूट्यूब पर वीडियो देख नाबालिग ने की खुद की प्रसूति, जानिए फिर क्या हुआ

vinu

The Mumbra Story: द मुंब्रा स्टोरी.. 400 से अधिक बच्चो का धर्मातरण,

Deepak dubey

Leave a Comment