Joindia
नवीमुंबईराजनीति

संपत्ति कर के रूप में 716.97 करोड़ रुपये जमा, पिछले वर्ष की तुलना में 83.66 करोड़ रुपये अधिक वसूली 

Advertisement
नवी मुंबई। संपत्ति कर(property tax)नवी मुंबई मनपा  के राजस्व का सबसे बड़ा स्रोत है और इस वित्तीय वर्ष 2023-2024 में संपत्ति कर से 716.97 करोड़ रुपए जमा हुए है |जो पिछले वर्ष 2022-2023 से 83.66 करोड़ अधिक है। यह संपत्ति कर विभाग द्वारा एक साल में जुटाए गए राजस्व का अब तक का रिकॉर्ड है।
पिछले साल नवी मुंबई मनपा ने प्रॉपर्टी टैक्स से 633.31 करोड़ की रकम वसूली थी|इस वर्ष वसूली  की उचित योजना बनाई गई और प्रभावी ढंग से कार्यान्वित किया गया। इसके मुताबिक शुरू से ही संपत्ति कर बकायादारों पर फोकस रहा। उनके बकाया के अनुसार  सूचियाँ तैयार की गईं और अधिक राजस्व संग्रह की योजना बनाई गई। उसके अनुसार कार्रवाई की गई | इसके अलावा संपत्ति कर के बकाएदारों को राहत देने और मनपा  के पास बकाया संपत्ति कर वसूलने के लिए संपत्ति कर अभय योजना 1 से 31 मार्च 2024 तक लागू की गई थी|इसमें 1 से 20 मार्च तक बकाया जुर्माना राशि पर 75% छूट और 21 से 31 मार्च तक 50% छूट लागू की गई थी| नागरिकों ने इस योजना का भरपूर लाभ उठाया और 8740 बकायेदारों ने बकाया की जुर्माना राशि में छूट का लाभ उठाते हुए अभय योजना के तहत 116 करोड़ की राशि का भुगतान किया। इस अभय योजना के तहत बकाया नागरिकों को रु. 45.56 करोड़ की रकम छूट दी गई|इससे पिछले वर्ष की तुलना में 83.66 करोड़ अधिक संपत्ति कर जमा हुआ।नागरिकों के लिए संपत्ति कर का भुगतान करना आसान बनाने के लिए आवश्यक सावधानी बरतते हुए, इस वित्तीय वर्ष के अंतिम तीन दिन सार्वजनिक अवकाश थे ताकि नागरिकों को कोई असुविधा न इसके लिए नवी मुंबई मनपा के  सभी कार्यालय और नागरिक सुविधा केंद्र बंद कर दिए गए। कर भुगतान के लिए खुला रखा गया। लिहाजा छुट्टी के तीन दिनों में 29 मार्च को 28.78 करोड़, 30 मार्च को 8.38 करोड़ और 31 मार्च को 4.10 करोड़ यानी कुल 41.26 करोड़ का कलेक्शन हुआ। इसी तरह वित्तीय वर्ष के आखिरी माह मार्च 2024 में नागरिकों ने 163.50 करोड़ की राशि का भुगतान किया।
Advertisement

Related posts

रानीबाग में ”मगर” बनेंगे आकर्षण का केंद्र

Deepak dubey

बेघर हुए लोगो के लिए बीएमसी बनाएगी घर

Deepak dubey

MUMBAI: मुंबई ट्रेन धमाकों का दोषी करना चाहता है कानूनी पढ़ाई, बॉम्बे हाईकोर्ट ने दिया सटीक जवाब

Deepak dubey

Leave a Comment