Joindia
सिटीकल्याणठाणेदेश-दुनियानवीमुंबईमुंबईराजनीतिरोचक

नवी मुंबई के भविष्य के साथ किसी को नहीं खेलने देंगे

Advertisement

शहर में नागरिक स्वास्थ्य, शिक्षा और स्वच्छता की समस्याओं के समाधान के लिए बीजेपी नेता नाईक ने कोरोना काल से ही मनपा आयुक्त के साथ नियमित बैठकें कर रहे थे और आज उनकी 64वीं बैठक हुई।इसी से सम्बंधित आज नवी मुंबई महानगर पालिका  (Mahanagar Palika) के नवनिर्वाचित आयुक्त राजेश नार्वेकर से मुलाकात कर उन्हें समस्याओ से अवगत कराया। इस बैठक में पीपुल्स लीडर नाईक ने कमिश्नर नार्वेकर को नवी मुंबई के विभिन्न अंतरंग मुद्दों से अवगत कराया। इन समस्याओं के समाधान के लिए आयुक्त को पहल करने का सुझाव देते हुए उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि किसी को भी नवी मुंबई के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने की अनुमति नहीं दी जाएगी।

कमिश्नर नार्वेकर से आज पहली मुलाकात थी। इस मौके पर पूर्व सांसद डॉ. संजीव नाईक, ऐरोली विधानसभा क्षेत्र के पहले विधायक संदीप नाईक, पूर्व मेयर सागर नाईक, पूर्व मेयर सुधाकर सोनवणे, पूर्व सदन नेता रवींद्र इथापे, पूर्व विपक्ष नेता दशरथ भगत नवी मुंबई भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष रामचंद्र घरात मौजूद थे और आदि पदाधिकारी उपस्थित थे।
आज की बैठक में पीपुल्स लीडर नाईक ने विकास योजना में मनपा द्वारा आरक्षित लेकिन सिडको द्वारा बेचे गए भूखंडों का मुद्दा उठाया। जन नेता नाईक ने कहा कि शहर के नागरिकों के भविष्य में नागरिक जरूरतों के लिए आरक्षित भूखंड जरूरी हैं और मनपा को जरूरी भूखंड देकर अन्य भूखंडों को बेच देना चाहिए। इस संबंध में आयुक्त नार्वेकर ने लोक नेता नाईक को आश्वासन दिया कि वह सिडको के प्रबंध निदेशक संजय मुखर्जी के साथ बैठक कर निर्णय लेंगे।

एमआईडीसी ने मुख्य सड़क के किनारे सर्विस रोड पर होटलों के निर्माण के लिए भूखंड आवंटित किए हैं, जिससे घातक दुर्घटनाएं होती हैं और यातायात की भीड़ बढ़ जाती है। फिलहाल ऐसे तीन से चार होटल खड़े हैं। हाल ही में तुर्भे के एक होटल के पास इसी तरह के हादसे में मनपा के एक कर्मचारी की मौत हो गई थी। आने वाले समय में इस तरह के और भी हादसे हो सकते हैं। लोकनेता नाईक ने मांग की कि होटल मालिकों को मुआवजा दिया जाए और उन्हें महत्वपूर्ण स्थानों पर पुनर्वास किया जाए और सर्विस रोड को खोला जाए, कमिश्नर नार्वेकर ने इस संबंध में सकारात्मक कार्रवाई करने का वादा किया। बीजेपी नेता नाईक ने भी इस मुद्दे को उद्योग मंत्री उदय सामंत के सामने उठाया है और सरकार के स्तर पर भी कार्रवाई की उम्मीद है।

मनपा ने शहर के छात्रों को केंद्रीय स्तर की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए सीबीएसई के दो स्कूल शुरू किए हैं।दो अतिरिक्त स्कूल शुरू होने जा रहे हैं। लेकिन मौजूदा स्कूलों में शिक्षकों की कमी के कारण छात्रों को शैक्षणिक नुकसान हो रहा है। गणेश नाइक ने मांग की कि इस मामले की जांच कर जल्द से जल्द इन स्कूलों से आवश्यक शिक्षकों की भर्ती की जाए।नाईक ने आयुक्त का ध्यान इस बात की ओर दिलाया कि नवी मुंबई मनपा के स्कूलों के परिणाम निजी स्कूलों की तुलना बराबर है।
भविष्य में नवी मुंबई शहर की बढ़ती आबादी को आवश्यक जल आपूर्ति प्रदान करने के लिए लोकनेता नाईक की दूरदर्शी योजना के माध्यम से मोरबे बांध का अधिग्रहण किया गया था, इसलिए आज नवी मुंबई शहर पानी की आपूर्ति के मामले में आत्मनिर्भर है। नाईक ने 2050 तक आबादी को पानी की आपूर्ति की योजना बनाने के लिए टाटा पावर और भीरा बांध से नवी मुंबई तक पानी पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं। इस संबंध में उन्होंने विधानसभा में मांग भी की थी। आयुक्त नार्वेकर ने सकारात्मक प्रतिक्रिया दी जब उन्होंने सुझाव दिया कि मनपा को एक प्रस्ताव तैयार करना चाहिए और इसे तुरंत राज्य सरकार को भेजना चाहिए।

ऐरोली विधानसभा क्षेत्र के पहले विधायक संदीप नाईक ने मांग की थी कि ऐरोली कटाई फ्लाईओवर जो एमएमआरडीए द्वारा बनाया जा रहा है और नवी मुंबई से होकर ,मुंबई और कटई दोनों की ओर बोर्डिंग और लैंडिंग के लिए रनवे होना चाहिए। एमएमआरडीए प्राधिकरण इस मांग पर सहमत हो गया है, लेकिन यह स्पष्ट करते हुए कि नवी मुंबई के लिए दोनों मार्ग इस फ्लाईओवर के पूरा होने से पहले तैयार होने चाहिए, पीपुल्स लीडर नाईक ने आयुक्त नार्वेकर को इस संबंध में एमएमआरडीए प्राधिकरण के साथ पालन करने का निर्देश दिया। आयुक्त ने इस पर सहमति जताई।

नेता नाईक ने आयुक्त नार्वेकर को घनसोली-पंबीच मार्ग के लिए सिडको से तत्काल धन उपलब्ध कराने के प्रयास करने का भी सुझाव दिया। घनसोली पंबीच मार्ग ठाणे-बेलापुर मार्ग पर यातायात की भीड़ को कम करने के लिए बहुत उपयोगी होगा। यदि सिडको धन नहीं देना चाहता है, तो पूरी सड़क का निर्माण सिडको द्वारा किया जाना चाहिए और मनपा को दिया जाना चाहिए।
नगरपालिका प्रशासनिक काल के दौरान, नवी मुंबई शहर के गांवों, झुग्गियों और शहरों जैसे सभी क्षेत्रों में पानी की कमी बढ़ गई। यहां तक ​​कि नवी मुंबई के कोटे का पूरा जल भंडारण भी एमआईडीसी द्वारा उपलब्ध नहीं कराया जाता है। नाईक ने सुझाव दिया कि नवी मुंबई को नवी मुंबई का सही पानी मिले यह सुनिश्चित करने के लिए मनपा प्रशासन को ध्यान देना चाहिए।

नवी मुंबई में फेरीवालों की समस्या जारी है। मनपा फेरीवालों का सर्वे करे। स्थानीय व शासकीय फेरीवालों को सिडको से प्लॉट वार प्लॉट लेने व उनका पुनर्वास करने का निर्देश दिया गया।
नगर पालिका प्रशासन काल में कुछ दबंग नगरसेवकों ने मनपा प्रशासन पर दबाव बनाकर अपने वार्ड में करोड़ों रुपए के सिविल कार्य करवाए, वहीं अन्य वार्डों में मूलभूत सुविधाएं भी पूरी नहीं हो सकीं।
उन्होंने नागरिकों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रत्येक वार्ड में स्कूल, अस्पताल और खेल के मैदान जैसी सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने की आवश्यकता व्यक्त की।

Advertisement

Related posts

रवीना टण्डन की बेटी बनी पीएनजी सिल्वोस्टाईल की ब्रांडएम्बेसडर

Deepak dubey

Fire in MUMBAI: मालाड में लगी भीषण आग, 100 से अधिक झुग्गियां जलकर खाक, एक बच्चे सहित दो की मौत

Deepak dubey

नवी मुंबई मनपा शिक्षण मंडल के खिलाफ शिक्षकों का आंदोलन

Deepak dubey

Leave a Comment