Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियामुंबईराजनीति

भाजपा नेता विक्रम पावस्कर को भड़काऊ भाषण पड़ेगा भारी, हाईकोर्ट में याचिका ,

Advertisement

गिरफ्तारी की मांग पर जवाब दाखिल करने के लिए सरकार की ओर से समय मांगा गया

Advertisement

मुंबई । सातारा के पुसेसावली(Pusesawli of Satara)के मस्जिद पर हमला और मुसलमानों के खिलाफ नफरत भरे बयान देने के मामले में भाजपा नेता विक्रम पावस्कर की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई है। मिधे सरकार ने इस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिए कोर्ट से समय देने का अनुरोध किया है ।

शाकिर तांबोली ने यह याचिका दायर की है। न्याय . रेवती मोहिते-ढेरे और न्या मंजूषा देशपांडे की पीठ के समक्ष सुनवाई हुई। एड .लारा जेसानी और एड .संस्कृति याग्निक ने तंबोली का प्रतिनिधित्व किया, जबकि मुख्य लोक अभियोजक हितेन वेनेगांवकर और लोक अभियोजक पी. पो. शिंदे ने दलील दी.

इस मामले में तंबोली और गवाहों की जान को खतरा है. मांग की गई कि उन्हें पुलिस सुरक्षा दी जाए. मुख्य लोक अभियोजक वेनेगांवकर ने अनुरोध किया कि इस याचिका पर जवाब दाखिल करने के लिए समय दिया जाये। मुख्य लोक अभियोजक वेनेगांवकर ने यह भी स्पष्ट किया कि यदि आवश्यक हुआ तो तंबोली और गवाहों को पुलिस सुरक्षा प्रदान की जाएगी। कोर्ट ने इस पर संज्ञान लेते हुए सुनवाई 2 फरवरी 2024 तक के लिए स्थगित कर दी है ।

क्या मामला है

24 जनवरी 2023 और 2 जून 2023 को सातारा में भड़काऊ बयान दिए गए थे।बार-बार अनुरोध के बाद पुलिस ने 24 जनवरी की घटना के संबंध में 11 मई 2023 को मामला दर्ज किया। फिर 21 अगस्त 2023 को मस्जिद पर हमला हुआ। विवाद में एक व्यक्ति की मौत हो गई। यह सब भाजपा नेता विक्रम पावस्कर के भड़काऊ भाषण की वजह से हुआ। संग्राम माने और कुछ अन्य लोगों को विक्रम पावस्कर ने मस्जिद पर हमला करने के लिए उकसाया था। पुलिस ने इस मामले में संग्राम माने को गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन तंबोली का आरोप है कि पुलिस ने पावस्कर के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।

संग्राम माने के घर रची गई साजिश

मस्जिद पर हमले की साजिश संग्राम माने के घर पर रची गई थी, पावस्कर की वजह से ही मस्जिद पर हमला हुआ था। पुलिस के पास घटना की वीडियो रिकॉर्डिंग है। फिर भी पुलिस ने उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की, उनका नाम चार्जशीट में नहीं है।तंबोली ने दावा किया है कि वह अभी भी आजाद हैं।

Advertisement

Related posts

रायगड जिले के 3 हजार आंगनबाड़ियों में लटके ताले

Deepak dubey

हिंदुस्थान में जानलेवा जीका वायरस ने लोगों को चिंतित कर दिया है

vinu

संकट में मुंबई का मैनेजमेंट गुरु, वर्क फॉर्म होम से कम हुए डब्बे वाले, 5 हजार डब्बे वालों में से बचे केवल डेढ़ हजार

Deepak dubey

Leave a Comment