Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियानवीमुंबईमुंबईसिटी

ST’s e-bus will run on Maharashtra Day: महाराष्ट्र दिवस पर दौड़ेंगी एसटी की ई बस, मार्च महीने तक एसटी के बेड़े में आनी थी 150 इलेक्ट्रिक बसें

Advertisement

मुंबई। नए ई-शिवनेरी बस एसटी महामंडल (New E-Shivneri Bus ST Mahamandal)के बेड़े में शामिल होने जा रही है। 1 मई को महाराष्ट्र दिवस (Maharashtra Day on 1st May) के अवसर पर ठाणे से पुणे राजमार्ग पर ई-शिवनेरी बस (E-Shivneri Bus on Thane to Pune Highway) चलाया जायेगा। इन बसों का किराया मौजूदा शिवनेरी टिकट की कीमत से कम होगा। सूत्रों ने जानकारी दी है कि ठाणे-पुणे हाईवे पर चलने वाली बस का किराया 350 रुपये होगा।

Advertisement

मात्र आठ ई-शिवनेरी बसें ही की जाएंगे पेश

शुरुआत में एसटी निगम के बेड़े में आठ इलेक्ट्रिक शिवनेरी बसें जुड़ेंगी। जहां तक जानकारी मिली थी की मार्च महीने तक एसटी के बेड़े में 150 इलेक्ट्रिक बसें आने वाली थीं। लेकिन इलेक्ट्रिक बसों की भारी मांग के कारण अभी मात्र आठ बसें ही प्रवेश करेंगी। बस मोबाइल चार्जिंग के साथ-साथ पूरी तरह से वातानुकूलित, अत्याधुनिक इंफोटेनमेंट से लैस होगी। एक बार बैटरी चार्ज होने के बाद यह बस 400 किमी की यात्रा करने की क्षमता रखती है।

तेज यात्रा के लिए शिवनेरी को दिया जायेगा प्राथमिकता

डीजल बसों की तुलना में इलेक्ट्रिक बसों की रनिंग कॉस्ट कम होती है। वर्तमान में भारत में कुछ बसों को ‘फेम’ योजना के तहत राज्य परिवहन निगम के साथ पंजीकृत किया गया है। शिवनेरी एसटी कॉरपोरेशन के बेड़े में प्रीमियम बस सेवाओं में से एक है। वोल्वो रेंज की इस बस को बहुत से लोग पसंद करते हैं क्योंकि यह आरामदायक और तेज़ है। साथ ही कई मुंबई-पुणे यात्री भी इससे सफर करते हैं। इसलिए ई-बस का नाम बदलकर ई-शिवनेरी कर दिया गया है।

ई-शिवनेरी की विशेषताएं
ई शिवनेरी बस की क्षमता 43 यात्रियों की है। एक बार बैटरी पूरी तरह चार्ज हो जाने के बाद, 400 किमी की यात्रा किया जा सकता है। ई शिवनेरी पूरी तरह से वातानुकूलित बस के साथ आरामदायक बैठने की व्यवस्था, मोबाइल चार्ज करने की सुविधा और बैग रखने की अलग व्यवस्था होगी।

पहली शिवई पुणे-नगर रूट पर चलती थी
इस बीच, पिछले साल दो शिवई इलेक्ट्रिक ट्रेनों का उद्घाटन किया था, जो वर्तमान में पुणे-अहमदनगर राजमार्ग पर चल रही हैं।
इसी बीच ‘जहां गांव वहां एसटी’ की अवधारणा को एसटी निगम ने कई साल पहले लागू किया था। इस हिसाब से एसटी आज हर गांव में आसानी से देखा जा सकता है। चूंकि पेट्रोल और डीजल की कीमत बहुत अधिक हो गई है, इसलिए इन इलेक्ट्रिक बसों का लाभ आने वाले वर्षों में आम लोगों को मिलेगा। साथ ही टिकटों की कीमत में भी अंतर आने की संभावना है।

MUMBAI : फ्रांसीसी और भारतीय नौसेना ने दिखाया अपने युद्ध कौशल का जलवा

Advertisement

Related posts

सातवें आसमान पर सब्जियों के भाव, आवक कम होने से कीमतों मे दोगुना बढ़ोतरी

Deepak dubey

Rs 2000 exchange date extend: दो हजार के नोट बदलने की छूट 31 अक्टूबर तक दे RBI- कैट

Deepak dubey

महाराष्ट्र में भीषण दुर्घटना: नासिक में धार्मिक कार्यक्रम से लौट रहा टेम्पो हुआ दुर्घटनाग्रस्त, 4 की मौत और 15 श्रद्धालु हुए घायल

cradmin

Leave a Comment