Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियामुंबई

मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री ध्यान दें तो बेघरों की समस्या का स्थाई समाधान हो जाएगा- अनिल गलगली

Advertisement
Advertisement

विश्व बेघर दिवस

मुंबई। हालांकि सरकार ने मुंबई में फुटपाथ पर रहने वाले बेघरों के अधिकारों के लिए कई योजनाओं की घोषणा की है, लेकिन हकीकत कुछ और ही है। आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने कहा कि अगर मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री सरकार की योजना की सफलता पर ध्यान दें तो लक्ष्य हासिल हो जाएगा और मुद्दों का स्थायी समाधान हो जाएगा।

पहचान संस्था के अध्यक्ष और राज्य आश्रय नियंत्रण समिति के सदस्य ब्रिजेश आर्य की पहल पर विश्व बेघर दिवस के अवसर पर वरली में बेघरों के लिए एक कार्यक्रम का आयोजन किया। आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने कहा कि लगातार फॉलोअप के बाद अब मुंबई मनपा ने बेघरों के लिए प्रशिक्षण और आश्रय की घोषणा की है। यदि केंद्र सरकार के माध्यम से सभी को सही मकान मिल जाए तो समस्या हल हो जाएगी। ब्रिजेश आर्य ने कहा कि समस्याएं बहुत हैं और अब सकारात्मक बदलाव देखने को मिल रहा है। चुनाव आयोग, केनरा बैंक, तहसीलदार और राशन अधिकारी की मदद से बेघरों को मदद मिल रही है। इस अवसर पर सुभाष रोकड़े, रेखा खारवी, शांताबाई सोनटक्का, पूजा वाघरी, गीता खारवी, भारती भोजया, संजना, मंदा जोशी, सुनीता कांबले उपस्थित थे। इस कार्यक्रम में सेंट जेवियर्स कॉलेज के एसआईपी स्वयंसेवकों में मीनाक्षी बिपिन, बेनी कोचर, महक वाधवा, स्नेहा साईजी, राचेल, ऐमिनी मैथ्यू, विश्वजीत ध्रुवशाह उपस्थित थे।

Advertisement

Related posts

सबसे बड़ी खबर! उदयनराजे के  ‘उस’ पत्र का राष्ट्रपति ने लिया संज्ञान ;  राज्यपाल के बयान की होगी जांच?

Deepak dubey

फेल हो गए . . . नो टेंशन एक और मौका बाकी है मेरे दोस्त

Deepak dubey

Infibeam Avenues की गो पेमेंट्स में हिस्सेदारी 54.80 प्रतिशत बढ़ी, 16 करोड़ रुपये का हुआ निवेश

dinu

Leave a Comment