Joindia
कल्याणक्राइमठाणेमुंबई

Crime: ड्रग्स ,फर्जीवाड़े से जुड़े आरोपी को बचाने के लिए होटल मे मीटिंग, डीसीपी के जांच मे पकडा गया अधिकारी,आरटीआई से सच्चाई आई सामने

Advertisement
Advertisement

दीपक दुबे

मुंबई। ड्रग्स ,फर्जीवाड़े से जुड़े आरोपी को बचाने के लिए होटल मे मीटिंग किए जाने का  खुलासा आरटीआई के माध्यम से मिली जानकारी से हुआ है। ड्रग्स तस्करी ,फर्जीवाड़ा ओर महिलाओ से विनायभंग जैसे गंभीर मामलों से जुड़े आरोपी को बचाने के लिए जांच अधिकारी आरोपीयो ओर उसके वकील के साथ होटल मे मीटिंग करते पाए गए। इतना ही नहीं गिरफ़्तारी से बचने के लिए जमानत हेतु व्हाट्सअप के माध्यम से कागजातों को उपलबद्ध कराए जाने का खुलासा हुआ है।

बता दे कि जनवरी 2024 मे राजस्थान के कोटा के रहने वाले आशीष बंसीलाल डागा को मुंबई सेंट्रल रेलवे स्टेशन पर भारी मात्रा मे ड्रग्स के साथ पकडा गया था।  उस समय भी मुंबई सेंट्रल रेलवे स्टेशन के जांच अधिकारी द्वारा आरोपी को 24 घंटे बाद कोर्ट मे हाजिर किया गया। जिसके कारण कोर्ट ने आरोपी आशीष को जमानत पर रिहा कर दिया। उस दौरान संदेह व्यकत किया गया था कि ड्रग्स कारोबार से जुड़े आशीष डागा जांच अधिकारियों के साथ आर्थिक व्यवहार किया गया। जिसके कारण जमानत दिलाने मे उसे मदद की गई।

आरोपी के साथ मीटिंग करते होटल मे मिला था जांच अधिकारी

मुंबई की रहने वाली सुनीता दमानी ने आरटीआई के माध्यम से आशीष डागा से जुड़ी एक जानकारी निकाली। दरअसल आशीष डागा ओर उसके पिता ने  फर्जी कागजात तैयार कर सुनीता के नाम से तीन बार लोन निकाले थे। इसकी शिकायत मलबार हिल पुलिस स्टेशन मे पिछले वर्ष अगस्त मे दर्ज की गई थी। लेकिन आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया गया था। इस मामले मे तत्कालीन डीसीपी को जानकारी मिली थी कि जांच अधिकारी आरोपीयो के साथ मिला हुआ है। जिसके बाद कुछ अधिकारियों की टीम ने नाना चौक स्थित श्री कृष्ण होटल अचानक पहुचे तो जांच अधिकारी ओर आरोपी वकील के साथ पाया गया। जिसके बाद जांच अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने का आदेश तत्कालीन अप्पर पुलिस आयुक्त दिलीप सावंत ने दी थी।

लड़की के साथ विनयभंग कर गुंडों से दिलाई धमकी

सूत्रों की माने तो आरोपी आशीष डागा के खिलाफ एमआरए मार्ग पुलिस स्टेशन मे भी विनयभंग का मामला दर्ज है। उस समय शिकायत दर्ज कराने वाली लड़की के घर पर गुंडों को भेजकर शिकायात वापस लेने का दबाव डाला गया था। आरोप है भी है कि इस मामले मे भी आरोपी आशीष डागा ने पैसे ओर पुलिस से संपर्क होने का फायदा उठाकर मामले को दबवा दिया। इस मामले मे भी अभी तक पुलिस के तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की गई है। सूत्र बताते है कि आशीष डागा ड्रग्स के कारोबार से जुड़ा है महीने एक से दो बार मुंबई ड्रग्स कारोबार को लेकर आता है बताया यह भी जा रहा है कि किसी ना किसी माध्यम से ड्रग्स लाकर सप्लाई करता है।लेकिन पुलिस अनजान बनी हुई है।

Advertisement

Related posts

आरसीएफ अलीबाग फैक्ट्री विस्फोट में 3 की मौत ,आठ घायल

Deepak dubey

Joint operation of Navy-NCB and ATS: 3300 किलो ड्रग्स, 5 पाकिस्तानी तस्कर, नौसना-एनसीबी और एटीएस ने गुजरात समंदर से पकड़ी सबसे बड़ी खेप

Deepak dubey

Aadhar card से मिला मासूम को आधार! , तड़प रहे थे मां-बाप को मिला उनका लाल

Deepak dubey

Leave a Comment