Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियानवीमुंबईमुंबईसिटी

CNG vehicle sales low: सीएनजी वाहनो की पसंद में भारी गिरावट, ईंधन की कीमतों में कमी के बाद भी सीएनजी वाहनो की विक्री घटी, अप्रैल में 4329 वाहन कम बिके

Advertisement

मुंबई। केंद्र की मोदी सरकार सीएनजी गैस(CNG GAS) पर आधारित वाहनों को बढ़ावा देने के लिए भले पूरा प्रयास कर रही हो लेकिन उसके नतीजे संतोषजनक नहीं साबित हो रहे हैं। (CNG vehicle sales low) पिछले महीने अप्रैल में सीएनजी वाहनों की बिक्री में भारी गिरावट आई है। एक महीने में लगभग 4हजार सीएनजी वाहन की बिक्री कम हुई है। इसके पीछे की वजह को लेकर कोई स्पष्ट निष्कर्ष नही सामने आया हैं। लेकिन अनुमान जताया जा रहा है कि इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रति लोगों में बढ़ रहे आकर्षण से सीएनजी के प्रति लोगों का मोह भंग हो रहा है। जानकारों की माने तो इलेक्ट्रिक वाहनो के पंजीकरण में इजाफा हुआ है। सीएनजी का बाजार अब इलेक्ट्रिक वाहनो की ओर रुख कर रहा है।

Advertisement

कम्प्रेस्ड प्राकृतिक गैस (सीएनजी) की कीमतों में केंद्र सरकार ने अप्रैल महीने में कमी लाने की घोषणा की। इसके बावजूद अप्रैल में सीएनजी वाहनों की खरीददारी में भारी गिरावट देखी गई है। अप्रैल महीने में कुल 29323 सीएनजी वाहनों की विक्री हुई। और इसका पंजीकरण किया गया। जबकि मार्च में यह आंकड़ा 33,652 से अधिक था।

वाहन डेटा के आंकड़े बताते हैं कि जनवरी में 30,852 वाहनों का पंजीकरण हुआ था, फरवरी में थोड़ा कम होकर 30,846 सीएनजी वाहनों का पंजीकरण हुआ था। जबकि अप्रैल शुरुआत में ही सीएनजी गैस के मूल्य निर्धारण की नई योजना को मंजूरी दी गई थी। जिसके बाद कीमतों में कमी की गई थी। लेकिन वह बेसरा रहा।

वाहन विक्रेता एक कंपनी के कर्मचारी ने बताया कि सीएनजी मॉडल को लेकर निर्धारित नियमावली के चलते कई मॉडलों को उतारने में थोड़ी हलचल हुई है लेकिन अगले साल तक सीएनजी के नए मॉडल को उतारने में सफलता मिलेगी और सीएनजी वाहनों की बिक्री मित्तल इजाफा देखने को मिल सकता है। उन्होंने कहा कि मारुति सुजुकी के पास सीएनजी वाहनों के कई मॉडल उपलब्ध है। ऐसे में सबसे अधिक 35 प्रतिशत बाजार पर उसी कंपनी का कब्जा है। अगले एक साल में कंपनी 4.5 लाख वाहनों के बेचने का लक्ष्य बना रही है। ऑटोमोबाइल विशेषज्ञों का मानना ​​है कि पंजीकरण में गिरावट अस्थायी है और जल्द ही सीएनजी वाहनों की बिक्री में तेजी आएगी।

एक अन्य विशेषज्ञ ने बताया कि बाजार में इन दिनों इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रति लोगों का रुझान ज्यादा देखने को मिल रहा है। इलेक्ट्रिक वाहनों के पंजीकरण के लिए लंबी कतार लगने लगी है। सीएनजी से कई गुना सस्ता इलेक्ट्रिक इंधन पड़ रहा है। जो लोगों को भा रहा है। मुंबई जैसे शहरों में प्रदूषण कम करने के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों क बढ़ावा दिया जा रहा है।

Modi govt. 2.0 budget: चुनाव पर नजर, बजट पर दिखा असर, जानिए क्या हुआ सस्ता और क्या महंगा

Advertisement

Related posts

लालबाग के राजा की पहली झलक ; देखने मिलेगा नितिन देसाई का आखिरी ‘शिवराज्याभिषेक’ लुक

Deepak dubey

Pune Isis Module: आतंकियों को मिल रहा था रेलवे का फंड, लापता रेलवे क्लर्क की तलाश मे एनआईए

Deepak dubey

Mahim dargah illegal structure: माहिम किले और दरगाह के पास के अवैध झोपड़ें हटाए

Neha Singh

Leave a Comment