Joindia
दिल्लीराजनीतिसिटी

Rahul gandhi: अडानी की बोगस कंपनियों में पैसा किसका? राहुल गांधी ने भाजपा की दुखती नब्ज पर रखी उंगली

Rahul gandhi
Advertisement

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Modi) और उद्योगपति गौतम अडानी (business man Gautam Adani) के बीच घनिष्ठ संबंध है। अडानी के सेल (बोगस) कंपनियों (bogus companies) में 20 हजार करोड़ रुपए का निवेश किसने किया है? यह पैसा किसका है? और यह कहां से आया है?

Advertisement

ऐसे प्रश्नों की झड़ी लगाते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul gandhi) ने कल मोदी सरकार पर जोरदार हमला बोला है। उनका पर्दाफाश होगा, इस बात का डर प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा को है। इसलिए उन्होंने मेरी संसदीय सदस्यता को रद्द किया है। लेकिन यदि उन्होंने जीवनभर के लिए संसदीय सदस्यता रद्द की और धमकी दी, तब भी मैं नहीं घबराउंगा नही, माफी नहीं मांगूंगा, घुटने नहीं टेकूँगा, मैं प्रश्न पूछते रहूंगा।

सांसदीय रद्द होने के बाद राहुल गांधी ने कांग्रेस मुख्यालय में पत्रकार परिषद बुलाई। संसद में पूछे गए सवालों, मोदी- अदानी के संबंध और लोकसभा सचिवालय की तरफ से हुई अयोग्यता की कार्रवाई इन सभी बिंदुओं को जोड़कर राहुल गांधी ने पत्रकार परिषद में प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा पर जमकर हमला बोला। राहुल गांधी ने कहा कि हमारे खिलाफ किस तरह षड्यंत्र रचे जा रहे हैं। मोदी सरकार और भाजपा की ओर से अडानी मामले के मूल मुद्दे पर दूसरी तरफ ध्यान कैसे भटकाने का प्रयास हो रहा है।

राहुल गांधी ने क्या कहा?

– अदानी मामले पर मैंने संसद में पहली बार सवाल पूछा तभी से यह सभी प्रकार शुरू हैं। अडानी और प्रधानमंत्री मोदी का क्या संबंध है? मोदी अदानी को क्यों बचा रहे हैं? इतना ही मेरा सवाल था। अदानी और मोदी की दोस्ती कैसी है? यह तस्वीर मेरे द्वारा दिखाए जाने के बाद भाजपा सांसदों ने हंगामा किया। मुझे बोलने नहीं दिए पूर्णविराम लोकसभा में किए गए भाषण को पटल से हटा दिया गया।

– अदानी मामले पर हमारी पोल खुल जाएगी इसीलिए प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा घबरा गई है। इसीलिए ही मेरी सांसदीय रद्द की।

– मोदी और अडानी के संबंध मोदी गुजरात का मुख्यमंत्री होने से लेकर है। इनकी गहरी मित्रता है।
-अडानी को रक्षा क्षेत्र के साथ-साथ देश भर में ठेके कैसे मिलते हैं?

-अडानी का खोल (फर्जी कंपनियों में 20 हजार करोड़ रुपए किसने निवेश किया? यह किसका पैसा है? यह पैसा कहां से आया?

-अडानी के खिलाफ आरोप को भाजपा के लोग देश के खिलाफ आरोप मानते हैं। क्या अडानी देश है?

-भले ही मेरे सांसद को जीवन भर के लिए निरस्त कर दिया जाए, मैं सवाल पूछूंगा, मैं डरूंगा नहीं, मैं घुटने नहीं टेकूंगा। जेल भी जाऊं तो माफी नहीं मांगूंगा।

– सच बोलना मेरे खून में है और मैं सच बोलना जारी रखूंगा। सत्य के मार्ग पर चलना ही मेरी तपस्या है।

-देश में लोकतंत्र पर रोज हमला हो रहा है, लेकिन सरकार लोगों से चुपचाप बैठकर सबकुछ सहने की अपेक्षा रखती है..
– मुझ पर झूठा आरोप लगाया गया कि मैंने विदेश से मदद मांगी। मोदी कैबिनेट के मंत्री झूठ बोल रहे हैं।

Rahul gandhi: एक सोची – समझी रणनीति के तहत राहुल गांधी की संसद की सदस्यता रद्द की गई।

क्यों हवा निकल गई क्या?

इस दौरान एक पत्रकार ने तीन बार ओबीसी से माफी और भाजपा के आंदोलन पर सवाल पूछा। राहुल गांधी ने कहा, ‘आपने एक ही सवाल तीन बार पूछा। यदि आप कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं, तो कम से कम प्रश्न को घूमाकार पूंछे। क्या आप भाजपा के लिए काम करते हैं? तुम चाहो तो भाजपा का लोगो सीने पर लगाकर घूमो। फिर मैं आपके प्रश्नों का उत्तर दूंगा। बहाना मत करो कि तुम एक पत्रकार हो।’ इस दौरान राहुल गांधी ने चुप हुए पत्रकार को भी चुनौती देते हुए कहा, ‘क्यों हवा निकल गई क्या?’

Rahul gandhi: एक सोची – समझी रणनीति के तहत राहुल गांधी की संसद की सदस्यता रद्द की गई।

 

Advertisement

Related posts

मंत्री पद दिलाने के नाम पर बीजेपी विधायक से 100 करोड़ की ठगी की कोशिश

Deepak dubey

MSEB: गो ग्रीन योजना से बिजली बिल में छूट

Deepak dubey

लेजर शो से जगमगायेगा मरीन ड्राइव !

Deepak dubey

Leave a Comment