Joindia
मुंबईराजनीतिरीडर्स चॉइस

Radheshyam Mopalwar: तीन पत्नी और अथाह संपत्ति, कौन है ये महाराष्ट्र का भ्रष्ट अधिकारी, भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस का माना जाता है करीबी, मोदी भी लगा चुके हैं आरोप

Advertisement

महाराष्ट्र में तमाम पदों पर रहते हुए हजारों करोड़ खुद भी कमाएं और मंत्रियों को भी कमवाये ऐसा आरोप इनपर लग रहा है। अय्यासी कहें या फिर शौक लेकिन यह अधिकारी ( Radheshyam Mopalwar) के पास एक नहीं तीन पत्नियां (Three wives) हैं। यह अधिकारी आज देश के सबसे अमीर सरकारी अधिकारी के रूप में जाने जाता हैं। अब तक 3 हजार करोड़ रुपए का मालिक बताया जा रहा है। लेकिन अनुमान है कि इसके पास 7 से 8 हजार करोड़ की संपत्ति हो सकती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भ्रष्टाचार को लेकर उसके खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया था। लेकिन 2018 में, तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ( CM Devendra fadnavis) ने उसके खिलाफ अस्थायी कार्रवाई की और फिर से उसके कंधों पर एक बड़ी जिम्मेदारी डाल दी। पहले से ही वह देवेंद्र फडणवीस का करीबी माना जाता रहा है। आश्चर्य तो यह है कि रिटायरमेंट के बाद भी इसे मौजूदा मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने अपने आंखों का तारा मानते हुए अपने वॉर रूम का प्रमुख बनाया था।

Advertisement

भ्रष्ट अधिकारी के पास करोड़ की संपत्ति

विधानमंडल के मानसून सत्र में विपक्षी दल ने भ्रष्टाचार को लेकर शिंदे सरकार की जमकर धज्जियां उड़ाई है। एनसीपी विधायक रोहित पवार ने कल भ्रष्ट अधिकारी राधेश्याम मोपलवार का मुद्दा उठाते हुए बड़ा खुलासा किया। उन्होंने शिंदे-फडणवीस सरकार के दौरान समृद्धि राजमार्ग के काम में हजारों करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार का सनसनीखेज आरोप लगाया। रोहित पवार ने समृद्धि महामार्ग योजना के प्रभारी वरिष्ठ अधिकारी राधेश्याम मोपलवार पर भ्रष्टाचार किये जाने का आरोप लगते हुए 3000 करोड़ की संपत्ति अर्जित करने की बात कही। उनके इस आरोप से शिंदे -फडणवीस सरकार हिल गई है।

समृद्धि महामार्ग से बनाया सबको समृद्ध

रोहित पवार ने कल विधानमंडल परिसर में मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि राधेश्याम मोपलवार के काले कारनामों का खुलासा किया। कहा कि उनके पास 3000 करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार की फाइल है। उन्होंने यह भी दावा किया कि उनके पास पुख्ता दस्तावेजी सबूत हैं। रोहित पवार ने कहा कि सबसे अधिक समृद्धि राजमार्ग से भ्रष्टाचार की सम्पति अर्जित की गई है। समृद्धि के काम में बड़े पैमाने पर सोची समझी साजिस के तहत भ्रष्टाचार किया गया है।

मनमुताबिक बांटे पैसे!

2018 में समृद्धि हाईवे के लिए 49 हजार करोड़ रुपये का टेंडर जारी किया गया था। महज चार महीने बाद उस टेंडर की कीमत 6 हजार 88 करोड़ रुपये वृद्धि कर 55 हजार करोड़ रुपये कर दिया गया। रोहित पवार ने कहा कि समृद्धि हाईवे के पैकेज नंबर 11 का काम सरकार ने गायत्री प्रोजेक्ट को दिया था। वह टेंडर 1900 करोड़ का था, लेकिन उक्त कंपनी ने कहा कि वह 2021 में यह काम नहीं कर पायेगी। इसके बाद काम की लागत 800 करोड़ बढ़ा दी गई। हाय हुज़ूर मल्टी किसकी प्रोजेक्ट कंपनी? इसे और गहराई तक जाने की जरूरत है।

तीन पत्नियां और अथाह संपत्ति 

मोपलवार परिवार में उनकी तीन पत्निया, और दो बेटियां भी हैं जिनके नाम संपत्ति है। उनके भाई के नाम भी हजारो करोड़ रुपये के शेयर हैं।  मोपालवार की दूसरी पत्नी के नाम १५० करोड़ , तीसरी पत्नी के नाम ३०० करोड़ संपत्ति है। इतना ही नहीं पहली बेटी के नाम ५०० करोड़ दुसरी बेटी के नाम ३५० करोड़ और भाई सदानंद मोपालवार के नाम २०० करोड़ रुपये की संपत्ति है।

निविदा कंपनी में मोपलवार परिवार के शेयर

-कंपनी के कुल शेयर 1 करोड़ 52 लाख है जिसमें से मोपलवार परिवार और उनकी बेटी, भाई के पास मौजूद 26 लाख शेयर है।

-तन्वी मोपलवार के नाम पर हुजूर मल्टी प्रोजेक्ट के 4 लाख 98 हजार शेयर, जो मेलोरा इंफ्रा कंपनी के पास

-शिंदे-फडणवीस ने मोपलवारों को देश का सबसे अमीर सरकारी अधिकारी बना दिया

Gunda Gang of Maharashtra : गुंडा गैंग राज्य में गुंडों के लिए सरकार चला रहा है!, मुख्यमंत्री की मौजूदगी में गुंडों ने किया प्रवेश, संजय राऊत ने तस्वीरें साझा कर बोला हमला

क्या इस पैसे का इस्तेमाल विधायक को तोड़ने के लिए हुआ?

सवाल उठता है कि यदि अधिकारी के पास इतना पैसा है, तो क्या उस विभाग के मंत्रियों को भी इसके माध्यम से कोई पैसा मिला था और जब राज्य में एमएलए की खरीद फरोख्त हुई तब क्या इस समृद्धि राजमार्ग से पैसा आया था। रोहित पवार ने कहा उन्होंने यह भी सवाल किया कि क्या सरकार इस भ्रष्टाचार को छुपाने के लिए तरह-तरह की योजनाएं ला रही है।

Shivsena (UBT): महाराष्ट्र मे भविष्य में दो ही नेता रहेंगे …शरद पवार और उद्धव ठाकरे!, संजय राउत का दावा

Advertisement

Related posts

CRIME: बंदूक की नोक पर नाबालिग की धर्म परिवर्तन की कोशिश, दो युवकों को किया गिरफ्तार

Deepak dubey

BMC headquarters No Rent Nor any Electricity Usage Recovered: कोई किराया नहीं, कोई बिजली बिल नहीं वसूला गया!, मनपा मुख्यालय में राजनीतिक दल पर प्रशासन मेहरबान रहा

Deepak dubey

Slum dwellers will get houses for two and a half lakhs: शिवसेना के अथक प्रयासों से जोरदार सफलता, झोपड़पट्टी वासियों को ढाई लाख में मिलेगा घर, राज्य सरकार ने अध्यादेश किया जारी

Deepak dubey

Leave a Comment