Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियामुंबईराजनीति

Mumbai university senate election: सरकार आपके द्वार, चुनाव कराने से घबराई, डरपोक घाती सरकार!, सीनेट चुनाव स्थगित पर आदित्य ठाकरे का जोरदार हमला

Advertisement

मुंबई । मुंबई यूनिवर्सिटी सिनेट चुनाव(mumbai university senate election)को गुरुवार देर रात अचानक स्थगित कर दिया गया। इस पर शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) नेता, युवासेना प्रमुख, विधायक आदित्य ठाकरे ने घाती सरकार पर जोरदार हमला बोला। आदित्य ठाकरे ने कहा कि युवासेना इस चुनाव में फिर से बाजी मारेगी इस एहसास होने के कारण ही सरकार ने चुनाव स्थगित कर दिया है। घाती सरकार डरपोक है। इस तरह का तंज भी आदित्य ठाकरे ने कसा। सरकार आपके द्वार, चुनाव लेने से घबरा गई… ऐसी आलोचना भी उन्होंने की।

Advertisement

मुंबई यूनिवर्सिटी का सीनेट चुनाव 10 सितंबर को होना था। मतदाता पंजीकरण और अन्य प्रक्रियाएं पूरी हो चुकी थीं, लेकिन गुरुवार की रात अचानक मुंबई यूनिवर्सिटी ने एक सर्कुलर जारी कर दिया। इसमें अगले आदेश तक चुनाव को स्थगिति दे दी गई। इसकी नाराजगी भरी प्रतिक्रिया कल छात्र संगठन और स्नातक मतदाताओं में देखी गई। युवासेना प्रमुख आदित्य ठाकरे ने ‘मातोश्री’ निवास स्थान पर प्रेस कॉन्फ्रेंस लेकर यूनिवर्सिटी के फैसले की बखिया उधेड़ी।
चुनाव कार्यक्रम घोषित होने के बाद ऐसा क्या हुआ कि चुनाव अचानक स्थगित कर दिया गया? ऐसा सवाल इस दौरान आदित्य ठाकरे ने उठाया। उन्होंने कहा कि बंगाल में चुनाव के दौरान हिंसाचार को रोकने के लिए केंद्र ने सभी सुरक्षा तंत्रों को वहां भेजा था। मणिपुर में माहौल गरम है। वैसी स्थिति महाराष्ट्र में नहीं है। फिर भी चुनाव स्थगित कर दिया गया।
साल 2010 में युवासेना ने चुनाव लड़ा, तब दस में से आठ उम्मीदवार चुने गए थे। साल 2017 में दस की दस सीटें युवासेना ने जीतीं। सभी पार्टियों हमारे सामने लड़ी थीं फिर भी युवासेना को अच्छा बहुमत मिला था। अब भी सामान्य तौर पर सवा लाख मतदाताओं ने अपनी जेब से पैसे भरकर इस चुनाव के लिए पंजीकरण कराया था। छटनी के बाद लगभग 95 हजार मतदाता थे। हमारे दस प्रत्याशियों ने आवेदन पत्र भरा था। फिर चुनाव स्थगित करने की क्या जरूरत पड़ी? कुछ गड़बड़ी तो नहीं हुई ना? ये भी आदित्य ठाकरे ने पूछा। सुशिक्षित मतदाताओं की चुक क्या? उनकी आवाज सीनेट तक नहीं जानी चाहिए क्या? ऐसा भी उन्होंने कहा।

असंवैधानिक मुख्यमंत्री का दबाव तो नहीं ना?

यह बैठक कहां हुई, कितने बजे हुई, किसके घर पर हुई, बैठक में कौन मौजूद था, कुछ मिनिट्स हैं क्या, बैठक में राज्यपाल मौजूद थे क्या, या असंवैधानिक मुख्यमंत्री के दवाब में यूनिवर्सिटी ने स्थगिति का फैसला किया? ऐसा एक के बाद एक सवाल कर ही घाती सरकार भाग रही है, ऐसा तंज आदित्य ठाकरे ने कसा। उन्होंने कहा कि चुनाव को स्थगिति दी, फिर वो होगा कब इसे लेकर भी स्पष्ट करना चाहिए ऐसा उन्होंने कहा।

असंवैधानिक मुख्यमंत्री चुनाव से घबरा रहे

इस मुद्दे पर आदित्य ठाकरे ने मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे पर भी निशाना साधा। प्रदेश के असंवैधानिक मुख्यमंत्री एक नंबर के डरपोक हैं। डर रहे थे इसीलिए ही उन्होंने भाजपा में छलांग लगाई, ऐसा उन्होंने कहा।

आपकी सरकार सीनेट नहीं, हम गिराएंगे
सीनेट चुनाव से क्यों घबराते हो? आपकी सरकार सिनेट नहीं गिराएगी, आपकी सरकार हम गिराएंगे, ऐसी चेतावनी भी आदित्य ठाकरे ने घाती सरकार को दी। आदित्य ठाकरे ने यह भी कहा कि पिछले साल स्नातक और शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रों में भाजपा और घाती गुट की हार हुई इसलिए वे सीनेट चुनाव से घबरा रहे हैं, ऐसा भी आदित्य ठाकरे ने कहा।

शिवसेना नेता कुलपति से मांगेंगे जवाब

आदित्य ठाकरे ने कहा कि स्थगन के मुद्दे पर हम कोर्ट अथवा कुलपति के पास नहीं जाएंगे, बल्कि शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे) पक्ष के नेता कुलपति से मिलेंगे और उनसे जवाब मांगेंगे।

लोकसभा चुनाव भी स्थगित होगी

आदित्य ठाकरे ने यह भी आशंका जताई कि 2024 का लोकसभा चुनाव भी स्थगित किया जाएगा। उन्होंने आलोचना करते हुए कहा कि सरकार कोई चुनाव नहीं कराना चाहती, सिर्फ नियुक्तियां कर जीतना है।

MUMBAI UNIVERSITY: छात्रों पर पड रहा है मुंबई विश्वविद्यालय के प्रभारी कामकाज का फटका, आज है कला विभाग की परीक्षा, 

Advertisement

Related posts

MUMBAI: ठेका शिक्षकेतर कर्मचारियों पर परीक्षा के कामों की जिम्मेदारी

Deepak dubey

एसयु-30 एमकेआय (सुखोई) विमान ने एक जहाज लक्ष्य के खिलाफ ब्रह्मोस मिसाइल के विस्तारित-रेंज संस्करण का सफलतापूर्वक परीक्षण

Deepak dubey

PAYTM: पेटीएम में मनी लांड्रिंग से इंकार , ईडी जांच से नहीं कोई संबंध

Deepak dubey

Leave a Comment