Joindia
देश-दुनियामुंबई

अगले 7 से 8 वर्षों में मुंबई का आधा तटीय इलाका अरब सागर में समा जाएगा।

Advertisement
वैश्विक जलवायु परिवर्तन का खतरा दिनों दिन बढ़ता जा रहा है। वैश्विक स्तर पर तापमान में एक अंश सेल्सियस की वृद्धि हुई है जिसके चलते समुद्र का जलस्तर बढ़ रहा है। यही स्थिति बनी रही तो अगले 7 से 8 वर्षों में मुंबई का आधा तटीय इलाका अरब सागर में समा जाएगा। यह दावा शोधकर्ताओं ने किया है।
Advertisement
आरएमएसई ने इसी साल जुलाई महीने में एक अध्ययन किया था। इस शोध में पाया गया है। कि मुंबई का मरीन ड्राइव, हाजी अली दरगाह, जेएनपीटी, बांद्रा-वर्ली सी लिंक, वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे जैसे कई इलाके समुद्र में समा जाने के मुहाने पर हैं। आरएमएसई ने यह विश्लेषण आईपीसीसी के छठवीं क्लाइमेट एसेसमेंट रिपोर्ट के आधार पर किया है। ग्लोबल वार्मिंग के कारण समुद्र का दायरा दिन-ब-दिन बढ़ रहा है। अगले 8 वर्ष यानी 2030 तक मुंबई ही नहीं बल्कि देश के कई तटीय इलाकों के शहरों पर पानी में डूब जाने का खतरा मंडरा रहा है। मुंबई, कोच्चि, पारादीप, चेन्नई, विशाखापट्टनम, भावनगर और तिरुवनंतपुरम के तटीय इलाके समुद्र में डूब जाएंगे। कईयों को अपना घर- बार, काम- धंधा छोड़ना पड़ सकता है। लोगों को रहने के लिए दूसरी जगह तलाशनी पड़ सकती है।
अर्थव्यवस्था डगमगाने का खतरा
शोधकर्ताओं की मानें तो वर्ष 2050 तक यह स्थिति और भयानक हो सकती है। समुद्र का जल स्तर बढ़ने से वह कई इलाकों को अपनी चपेट में ले लेगा। कई इमारतें और सड़कें पानी में डूब जाएंगी। वर्ष 2050 तक तापमान में लगभग 2 अंश सेल्सियस की बढ़ोतरी होने से प्राकृतिक आपदाओं में इजाफा होगा। खासकर उन क्षेत्रों में समस्या विकट होने की संभावना जताई जा रही है, जहां बंदरगाह और व्यापारिक केंद्र हैं। इससे आर्थिक व्यवस्था डगमगा सकती है।
Advertisement

Related posts

Mercury crossed 37 in mumbai: दोपहर में निकलें संभलकर, मुंबई में पारा 37 के पार, राज्य में 42 डिग्री सेल्सियस

Deepak dubey

First day of exam for class 10th students: ऑल द बेस्ट, आज से 10वीं की परीक्षा

Deepak dubey

Telgi scam: तीन हजार करोड़ के स्टांप पेपर नष्ट करेगी सरकार  तेलगी स्टांप घोटाले के बाद रुकी बिक्री   

Deepak dubey

Leave a Comment