Joindia
देश-दुनियाकल्याणठाणेनवीमुंबईमुंबईसिटी

मुंबई के 28 DCP का ट्रांसफर, वापस लाए गए परमबीर सिंह संग काम कर चुके पुलिस अधिकारी

Advertisement
Advertisement

मुंबई ।मुंबई में पुलिस अधीक्षक और पुलिस उपायुक्त के स्तर के 28 पुलिस अधिकारियों का ट्रांसफर कर दिया गया है. इन डिप्टी कमिश्नरों का ट्रांसफर करके उन अधिकारियों को मुंबई में वापस लाया गया है जिन्हें महाविकास आघाड़ी सरकार के दौरान साइड पोस्टिंग में भेज दिया गया था. इनमें से कुछ मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के साथ काम कर चुके हैं. अट्ठाइस डीसीपी के ट्रांसफर के अलावा जो अधिकारी नियुक्ति का इंतजार कर रहे थे, उन्हें नियुक्ति के लिए पहले तय की गई जगहों से अलग जगहों पर भेजा गया है.

ट्रांसफर के ये आदेश मुंबई पुलिस कमिश्नर विवेक फणसलकर की ओर से दिए गए हैं. इस आदेश के तहत जिन पर महाविकास आघाड़ी सरकार के वक्त वसूली के आरोप लगे थे, उन्हें भी नियुक्ति दी गई है. ऐसे ही एक अधिकारी अकबर पठान को नासिक से मुंबई सर्किल 3 में लाया गया है.

परमबीर सिंह के साथियों पर सरकार, लुटा रही है प्यार?
मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह को जब पद से हटाया गया तब उनके खिलाफ मुंबई और ठाणे के अलग-अलग पुलिस थाने में वसूली के केस दर्ज किए गए थे. इस वसूली के मामले में डीसीपी पराग मणेरे, अकबर पठान और दीपक देवराज जैसे अधिकारियों का भी नाम था.

जिनपर आघाड़ी सरकार में गिरी आफत, उन्हें फिर मिली ताकत
महाविकास आघाड़ी सरकार ने इन तीनों ही अधिकारियों को मुंबई से बाहर साइड पोस्टिंग दी थी. पराग मणेरे पर को तो सस्पेंड कर दिया गया था. उन्हें जेल की हवा खानी पड़ी थी. इसके बाद ये तीनों अधिकारी बिलकुल शांत हो गए थे. इनकी कहीं कोई चर्चा नहीं थी. अब एक बार फिर शिंदे-फडणवीस सरकार द्वारा इन अधिकारियों को ताकत दी जा रही है.

कोई उनके पाले, कोई इनके पाले…मौसम बदला, बदले पाले!
रश्मि शुक्ला को क्लीन चिट दिया गया. इसके बाद अब मणेरे, पठान और देवराज जैसे अधिकारियों को बढ़िया पोस्टिंग देने का काम किया जा रहा है. यह एक तरह से कर्तव्यनिष्ठ अधिकारियों के साथ अन्याय माना जा रहा है. एक हफ्ते पहले एक बड़े राष्ट्रीय न्यूज चैनल के इंटरव्यू में देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि मुंबई पुलिस की प्रतिष्ठा गलत वजहों से और राजनीतिक इस्तेमाल की वजह से धूमिल हो गई थी, उन्हें वापस लाने की कोशिश की जाएगी. उस कोशिश में कमाल की कशिश दिखाई दे रही है. सरकार बदलती है, पाले बदलते हैं. कोई इनके पाले हुए निकलते हैं, कोई उनके पाले हुए निकलते हैं. खेला ऐसे ही चलता है, जनता को यही खलता है.

Advertisement

Related posts

Uddhav Thackeray attacks the government: उद्धव ठाकरे का सरकार पर हमला, कहा गुंडों की सरकार, ‘मिर्ची’ पर सरकार को दिया पत्र

Deepak dubey

Election result: गुजरात मे फिर कमल खिला

vinu

atiq ahmed : अतीक के 1990 के मामले में आज तक नही हुई एफआइआर

Neha Singh

Leave a Comment