Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियानवीमुंबईमुंबईसिटी

RAILWAY: एक वर्ष में लोकल की चपेट में आने से ढाई हजार लोगो की मौत

Advertisement

मुंबई। आरटीआई(RTI) के माध्यम सरकारी रेलवे पुलिस (GRP) द्वारा दिए गए आंकड़ों के अनुसार, मुंबई महानगर क्षेत्र (MMR)) में रेल लाइनों पर होने वाली मौतों की संख्या में हाल के वर्षों में उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई है। रिपोर्ट में कहा गया है। 2022 में एमएमआर में ट्रेनों से जुड़े हादसों में 2,507 लोगों की जान चली गई है जबकि 2,155 अन्य घायल हो गए। आंकड़ों से यह भी पता चला कि चलती ट्रेनों से गिरने या उपनगरीय ट्रेनों की चपेट में आने से 648 पुरुषों और 52 महिलाओं सहित 700 लोगों की मौत हो गई। उनमें से, पश्चिमी रेलवे पर 190 और मध्य रेलवे पर 510 लोगों की मौत की सूचना मिली थी। इसके अतिरिक्त, चलती ट्रेनों से गिरने के बाद 812 पुरुषों और 214 महिलाओं सहित 1,026 लोग घायल हो गए।रेलवे लाइन पर हादसों की यह खतरनाक वृद्धि कोई नई घटना नहीं है। दरअसल, आंकड़े बताते हैं कि 2016 के बाद से रेल हादसों में मौतों की संख्या लगातार बढ़ रही है।2019 में इस तरह के हादसों में 611 लोगों की जान चली गई, जबकि 2018 में रेल की पटरियों पर 711 लोगों की मौत हुई थी।

Advertisement

Related posts

Murder due to water logging in Dharavi: जल ने ली जान, धारावी में पानी के लिए खूनी जंग

Deepak dubey

जी 23 के पीछे मोदी शाह का षड्यंत्र – नाना पटोले

Deepak dubey

पिंपरी चिंचवाड़ में रद्द हुई आरोग्य सेविका भर्ती परीक्षा: नाराज अभियार्थियों ने महानगर पालिका कैंपस में किया प्रोटेस्ट

cradmin

Leave a Comment