Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियानवीमुंबईमुंबईराजनीतिसिटी

पाकिस्तान को भी पता है शिवसेना किसकी है -उद्धव ठाकरे

Advertisement
Advertisement

मुंबई। जमा हुए कार्यकर्ताओं का यह भीड़ और जलोश देखकर शिवसेना किसकी? यह इस तरह दिख रहा है! पाकिस्तान भी बताएगा असली शिवसेना किसकी है, लेकिन क्या चुनाव आयोग को मोतियाबिंद हो गया है। महाराष्ट्र को देखते हुए यह छत्रपति शिवराय का महाराष्ट्र है। कुछ लोगों को लगा कि यह शिवसेना है लेकिन हमने ऐसी कई ग़ुस्सियाँ देखी हैं और उन्हें चुनाव में हार का सामना करना पड़ा। तातीस आज वाकई बहुत याद आ रहे हैं, 40 देशद्रोही चले गए तो भी कोई बात नहीं लेकिन एक वफ़ादार छूट जाता है। तात्या की प्रतिमा का अनावरण करना आवश्यक नहीं समझा। वैशाली ताई से मुलाकात याद आ रही है। वैशाली ताई की शान। यह परिवार किसानों के लिए लड़ रहा है।

आप मेहनत करते हैं और टिकोजीराव शीर्ष पर बैठते हैं, अब उन्हें फिर से नीचे खींचने का समय आ गया है। चुने हुए देशद्रोही हो गए हैं लेकिन वोटर अब भी मेरे साथ हैं। अंबादास ने किसानों का दर्द बयां किया। कोरोना का वैश्विक संकट जब हमारी सरकार बनी। जब हम सरकार थे तब प्राकृतिक आपदाओं में हमने मदद की थी। अब सरकार ने खुद किसी संकट में मदद नहीं की है तो कहना ही पड़ेगा।

जलगाँव में एक कवि किसान से मिलने का उल्लेख। पुलिस से अपील है कि किसानों को परेशान न करें। कविता की पंक्तियाँ। बहिनाबाई आज यहां होतीं तो यह सरकार उन्हें जेल में डाल देती। बहिनबाई की कविताएँ। हम माँ की गोद में छुरा घोंपने वाले गद्दारों की औलाद नहीं हैं। कोई बाप को बदल कर बाप को चुरा लेते हैं। वे देशद्रोही हैं जो आपकी मेहनत का खून पीते हैं। मेरे पास आज कुछ भी नहीं है, लेकिन आप आकर मुझे अपना आशीर्वाद दें।

बीजेपी के सामने चुनौती नहीं है, बल्कि चुनौती यह है कि सत्ता में रहते हुए जो नुकसान होगा, उसे कैसे ठीक किया जाए। दो किसानों की आत्महत्या की खबर। 26 साल के एक लड़के ने आत्महत्या कर ली। देश की जनसंख्या बहुत अधिक है लेकिन छोटे बच्चे आत्महत्या कर लेते हैं। आपको राजा चुनने का अधिकार है। लेकिन आपकी आंखों में धूल। मोदी लोकसभा चुनाव में महंगाई की बात करते थे। अगर किसानों की आय दोगुनी हो गई है तो अपना हाथ उठाएं। चुनाव आते ही अबकी बार पर असर पड़ने लगा है।

सत्यपाल मलिक ने बताया पुलवामा का सच. कश्मीर की बात की, अब उनके पीछे सीबीआई लगा दो। कश्मीर में फिर से जवान शहीद हो गए लेकिन अमित शाह कर्नाटक में चुनाव प्रचार कर रहे हैं। मलिक को कुछ भी नहीं बोलने के लिए कहा गया था। कुछ लोग आपके पास लाचार बनकर आते हैं। फिर आप उन पर गोमूत्र छिड़कें। उन्हें भारत माता की कोई पार्टी नहीं, सिर्फ बीजेपी चाहिए।

2014 के गठबंधन के टूटने को याद कर रहे हैं। तब खडसे को गठबंधन तोड़ने की धमकी दी गई थी। आज नाम का निशान नहीं लेकिन लोग बढ़ रहे हैं, शिवसेना प्रमुख का आशीर्वाद। बीजेपी अपने लोगों को बाहर निकालने की कोशिश करती है और दूसरी पार्टियों में पार्टियों को भ्रष्ट करती है। संजय राउत को बधाई। नितिन देशमुख की वापसी को याद करते हुए। राजन साल्वी को परेशान करना जारी, वैभव नाइक जे मेरे साथ उसका उत्पीड़न ईडी सीबीआई। मैं इस बार जेल टाइम करूंगा। आपके पास किस तरह की चुनौतियां हैं? राहुल गांधी को भी परेशान किया जा रहा है।

मिंधे सरकार ने क्या दिया है? मैं घर बैठे जो सरकार चलाता हूं, वह आप नहीं कर सकते। वंशवाद में भी एक परंपरा है। तुम कहते हो फकीर लेकिन निकल जाओगे लेकिन जनता का क्या? वैशालीताई ने मुझसे युद्ध किया। आपको वैशालीताई के साथ रहना होगा। हमें उम्मीद है कि न्याय मिलेगा। मुझे तीन साल में किसी समय बताएं कि मैंने हिंदू धर्म छोड़ दिया। मैंने मुख्यमंत्री के रूप में पद की शपथ ली। सभी धर्मों के साथ समान व्यवहार किया जाता था। मैंने हिंदुत्व नहीं छोड़ा है, मैं इसे नहीं छोड़ूंगा, लेकिन हमारा हिंदुत्व स्वार्थ की बात नहीं, राष्ट्रीयता की बात है। हिंदुत्व क्या है बीजेपी को समझ नहीं आ रहा है। एक राज्य में गोहत्या पर प्रतिबंध किसी एक राज्य में नहीं है। इसके विपरीत लोगों को कुचलना हमारा हिंदुत्व नहीं है। ठाणे रोशनी शिंदे हमला मामले का संदर्भ। उनका हिंदुत्व हमारा हिंदुत्व नहीं है। रोशनी शिंदे के खिलाफ अपराध दर्ज किए गए लेकिन उनकी शिकायत नहीं ली गई।

भारत माता के सपूत भाजपा के लिए नहीं हैं। वाजपेयी की याद पचोरा जिंदा है। भगवा पर कोई गद्दार नहीं। जिसके पास अपना कुछ नहीं वह चोरी करता है। खारघर की दुर्भाग्यपूर्ण घटना को याद करते हुए। समारोह की मंशा खराब है। क्या उन्हें भाजपा को चुनौती देने की घोषणा करनी चाहिए, क्या वे मिंधे के नेतृत्व में लड़ने जा रहे हैं? आप मोदी के साथ आओ और धनुष-बाण चुराओ, मैं अपने नाम से आता हूं, मुझे चुनाव कराने की हिम्मत नहीं है क्योंकि मुझे आग दिखाई देती है। अब चुनाव बुलाओ, मैं तैयार हूं। मशाल जलाओ ताकि तुम्हारा सिंहासन हिले।

महाराष्ट्र देशद्रोही नहीं वीरों का है। दोनों हाथ उठाकर वज्रमहूत दिखाओ। मैं घुसपैठियों के घुसने का इंतजार कर रहा था। मैं पूरे राज्य में आऊंगा। अगले चुनाव की जिम्मेदारी आप पर है। महाराष्ट्र को गद्दारों से मुक्ति मिलेगी। दिन में सूरज जल रहा है लेकिन आपका सिर गर्म होना चाहिए, शिवसेना प्रमुख का बयान याद रखें।

Advertisement

Related posts

पंजाब में शिवसेना नेता को गोली मारकर हत्या

Deepak dubey

CRIME: 1200 पेज की चार्जशीट और 62 बयान, सरस्वती वैद्य हत्याकांड में अहम अपडेट

Deepak dubey

CRIME: पूर्व सभापति ने काटे युवक के दोनों हाथ, घायल कर जंगल मे लगाए ठिकाने 

Deepak dubey

Leave a Comment