Joindia
आध्यात्मकल्याणनवीमुंबई

मत्स्य मंत्रालय बन सकता है तो गौ मंत्रालय क्यों नहीं – राष्ट्रसंत कमल मुनि कमलेश, जैन संत कमल मुनि कमलेश की केंद्र और राज्य सरकार से स्वतंत्र मंत्रालय की मांग

Advertisement

नवी मुंबई। मत्स्य मंत्रालय(Ministry of Fisheries)की तरह स्वतंत्र रूप से गौ मंत्रालय बनाने की मांग राष्ट्रसंत कमल मुनि कमलेश ने केंद्र और राज्य सरकार से कि है। उन्होंने कहा कि गाय के संरक्षण के लिए सरकार को वास्तविक रूप से काम करने की जरूरत है इसके साथ ही हर मंदिर मे गौशाला शुरू कर 50 गाय रखने का आवाहन भी राष्ट्रसंत कमल मुनि कमलेश के तरफ से वाशी मे किया गया। चार माह के चातुर्मास के अवसर पर नवी मुंबई पहुंचे है। जहा जैन समाज के लोगों ने उनका स्वागत किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि जैन संत कमल मुनि कमलेश ने कहा कि वे इस बार का चतुर्मास के दिनों में गौ रक्षा तथा पर्यावरण को संतुलित बनाए रखने के लिए लोगों को जागरूक करने का काम करेंगे , उन्होंने कहा कि उन्होंने कश्मीर से कन्याकुमारी तक 80 हजार किलोमीटर की पदयात्रा करने के बाद इसी उद्देश्य को लेकर मुंबई आए हैं। उन्होंने कहा कि वे जिस जिस रास्ते से गुजरे हैं वहां उन्होंने यह सन्देश भी दिया है। उन्होंने कहा कि वे शीघ्र ही इस बारे में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे से भी मुलाक़ात करेंगे।उन्होंने कहा कि हर गांव में गौ माता की रक्षा के लिए गौशाला बनाए जाने की जरूरत है इसके लिए राजस्थान , गुजरात और उत्तर प्रदेश सरकार प्रति गाय के पीछे अनुदान दे रही है उसी तरह का अनुदान महाराष्ट्र सरकार और केंद्र सरकार की तरफ से भी दिया जाना चाहिए ताकि गौ माता के संरक्षण के लिए लोग आगे आए।

Advertisement

Related posts

12 identity cards can also be used for voting: वोटिंग कार्ड नहीं है तो नहीं, 12 आईडी का कर सकते हैं प्रयोग, मतदाता पहचान पत्र न होने पर भी कर सकते है मतदान- जिलाधिकारी संजय यादव

Deepak dubey

ठाणे जिले की नदियों को पुनर्जीवित हेतू रोड मेप बनायें ,जिलाधिकारी शिंगारे

Deepak dubey

राज्य कार्यकारणी के बैठक में बीजेपी कार्यकर्ताओं में भरी हुंकार,

Deepak dubey

Leave a Comment