Joindia
सिटीकल्याणठाणेदिल्लीमुंबईहेल्थ शिक्षा

कैंसर होगा खत्म, वैक्‍सीन हुआ तैयार, पढ़े खबर

दिल्ली। अब कैंसर(Cancer )खत्म करने की तैयारी शुरू हो गई है । कैंसर से अब किसी की मौत(death)नही होगी ।आप बिलकुल सही सुन रहे है । कैंसर का खात्मा करने के लिए वैक्सीन(vaction)आगया है। आइए जानते है विस्तार से …

खतरनाक बीमारी कैंसर को लेकर एक ऐसी वैक्सिन तैयार की गई है जिससे कैंसर से होने वाली मौत में कमी आएगी ।दावा किया गया है 44 प्रतिशत कमी आएगी । विशेषज्ञों की मानें, तो नई वैक्‍सीन कैंसर के इलाज में बड़ा विकल्‍प साबित हो सकती है।
इस नई वैक्‍सीन को उसी तकनीक से तैयार किया गया है, जिसका प्रयोग कोविड-19 की दवाई बनाने में मॉर्डना और फाइजर ने किया था। इस वैक्‍सीन के दूसरे चरण में इसे कीट्रूडा दवाई के साथ मिलाया गया था। इसके जो नतीजे आए उनसे साफ था कि इसकी वजह से स्किन कैंसर के दोबारा होने या मौत की आशंका में 44 फीसदी तक की कमी आई है।इस वैक्‍सीन को 157 मरीजों को दिया गया था। ये मरीज कैंसर के मेलेनोमा कैंसर के तीसरे या फिर चौथे चरण से जूझ रहे थे। इलाज के बाद उनके ट्यूमर को सर्जरी करके हटा दिया गया था।

कैंसर रिसर्च से मिले आंकड़ों के मुताबिक यूके में हर साल 36 पुरुष और 47 महिलाएं अपने जीवन में कभी न कभी स्किन कैंसर से जरूर पीड़‍ित होते हैं। कीट्रूडा, एक एंटीबॉडी है, जिसे मेलेनोमा, फेफड़ों के कैंसर के अलावा सिर और गले के कैंसर के इलाज में प्रयोग किया जाता है। मॉर्डना और मेक के डॉक्‍टरों की मानें, तो नई वैक्‍सीन के नतीजे और mRNA के पहले प्रयोग की प्रभावशीलता कैंसर के क्‍लीनिकल ट्रायल का पहला सफल उदाहरण है।इस स्‍टडी का प्रयोग व्‍यक्तिगत डोज के लिए किया गया था जोकि स्किन कैंसर में इम्‍यूनोथैरेपी की प्रभावशाीलता को बढ़ाती है। विशेषज्ञों ने mRNA-4157/V940 को इस तरह से तैयार किया है कि यह इम्‍यून सिस्‍टम के लिए प्रतिक्रिया देने वाली टी सेल्‍स को मजबूत कर सके।अभी यह रिसर्च पहले चरण में है, लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि इसके नतीजे उत्‍साहवर्धक हैं। बर्मिंघम यूनिवर्सिटी में एमआरसी सीनियर क्‍लीनिकल फेलो और कंसलटेंट कोलोरेक्‍टल सर्जन प्रोफेसर एंड्रयू बेग्‍स की मानें, तो यह एक गेम चेंजर वैक्‍सीन है, जिसे mRNA वैक्‍सीन टेक्‍नोलॉजी की मदद से तैयार किया गया है।

इस वैक्‍सीन की वजह से इम्‍यूनोथैरेपी वैक्‍सीन की प्रतिक्रिया काफी बढ़ जाती है और यह काफी खुशी की बात है। आने वाले समय में हो सकता है कि यह वैक्‍सीन इलाज का विकल्‍प हो जाए। मॉर्डना और मेरेक के डॉक्‍टर अब नियामक से संपर्क करेंगे। वो इसके नतीजे पेश करेंगे और इसके बाद तीसरा ट्रायल शुरू होगा। साथ ही दूसरे प्रकार के कैंसर के लिए भी इस वैक्‍सीन का प्रयोग बढ़ाए जाने पर भी चर्चा होगी।

Related posts

Heat stroke animals: गर्मी से तंग… अनारकली डिस्को नहीं पानी में चली, 58 साल की हो चुकी है अनारकली

Deepak dubey

Murder Mystery Birthday Party: मातम में बदला बर्थडे पार्टी, डीजे का पैसा नहीं देने पर युवक की हत्या ,चार दोस्त गिरफ्तार

Deepak dubey

फ्लैट के लिए श्रद्धा को बताया था ‘पत्नी’, जांच में हुए कई बड़े खुलासे

Deepak dubey

Leave a Comment