Joindia
देश-दुनियाकल्याणठाणेमुंबईसिटी

बीपीसीएल की कोच्चि रिफाइनरी को फिक्की केमिकल्स एंड पेट्रोकेमिकल्स अवार्ड्स-2022 में हासिल हुआ पुरस्कार

Advertisement

मुंबई- एक ‘महारत्न’ और फॉर्च्यून ग्लोबल 500 कंपनी भारत पेट्रोलियम कॉर्पाेरेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) को उसकी कोच्चि रिफाइनरी के लिए फिक्की केमिकल्स एंड पेट्रोकेमिकल्स अवार्ड 2022 से सम्मानित किया गया है। देश में पहली बार प्रोपलीन डेरिवेटिव (ऑक्सो अल्कोहल, आदि) पेश करने में कंपनी के योगदान की सराहना करते हुए जूरी ने ‘मेक इन इंडिया’ को बढ़ावा देने के लिए कंपनी को विशेष नामांकन से सम्मानित किया। अजित कुमार, कार्यकारी निदेशक (कोच्चि रिफाइनरी) ने नई दिल्ली में एक समारोह में भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण और रसायन और उर्वरक मंत्री, डॉ मनसुख मंडविया से यह पुरस्कार प्राप्त किया। सुरेश जॉन, मुख्य महाप्रबंधक (रिफाइनरी प्रोजेक्ट्स ऑर्गनाइजेशन) और कोच्चि रिफाइनरी से ए महेंद्रन, महाप्रबंधक (पीईटीसीएचईएम) भी उपस्थित थे।

14 फरवरी 2021 को माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा राष्ट्र को समर्पित प्रोपलीन डेरिवेटिव पेट्रोकेमिकल कॉम्प्लेक्स, 6,000 करोड़ रुपए की लागत से बनाया गया था। कॉम्प्लेक्स में एक ऐक्रेलिक एसिड यूनिट, एक्रिलेट्स यूनिट और विश्व स्तर की क्षमता और क्षमता की ऑक्सो-अल्कोहल यूनिट है और इम्पोर्ट सब्सटीट्यूशन के कारण इसके माध्यम से विदेशी मुद्रा में सालाना लगभग 4,000 करोड़ रुपए की बचत होगी।

फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) व्यक्तियों और कंपनियों को उनके सराहनीय कार्य और रासायनिक और पेट्रोकेमिकल उद्योग में उल्लेखनीय योगदान के लिए मान्यता देने के उद्देश्य से रसायन और पेट्रोकेमिकल पुरस्कार आयोजित करता है।

यह अवार्ड लोगों और कंपनियों के दृढ़ संकल्प और योगदान को दर्शाता है। पुरस्कार समारोह का आयोजन रसायन और पेट्रोकेमिकल विभाग, भारत सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों और इंडस्ट्री के दिग्गज लोगांे और क्षेत्र के अन्य हितधारकों की उपस्थिति में आयोजित किया गया।

1927 में स्थापित फिक्की भारत का सबसे बड़ा और सबसे पुराना शीर्ष व्यापार संगठन है। एक गैर-सरकारी, गैर-लाभकारी संगठन फिक्की भारत के व्यापार और उद्योग जगत का प्रतिनिधित्व करता है। फिक्की विभिन्न क्षेत्रों में नेटवर्किंग और सर्वसम्मति निर्माण के लिए एक प्लेटफॉर्म प्रदान करता है और भारतीय उद्योग, नीति निर्माताओं और अंतरराष्ट्रीय व्यापार समुदाय के लिए पहले प्लेटफॉर्म के तौर पर प्रतिष्ठित है।

फिक्की की ओर से भारतीय रसायन और पेट्रोकेमिकल उद्योग के विकास में उनके योगदान के लिए 48 कंपनियों को सम्मानित किया गया है।

पुरस्कार समारोह के दौरान बीपीसीएल की सफलता और उपलब्धियों पर प्रकाश डाला गया और कहा गया कि यह अवार्ड दरअसल बीपीसीएल की देशव्यापी सुविधाओं में सस्टेनेबिलिटी से संबंधित प्रयासों को मान्यता प्रदान करता है, क्योंकि इन्हीं प्रयासों से हमारे आसपास के पर्यावरण पर सकारात्मक प्रभाव पड़ा है।

कोच्चि रिफाइनरी के इंटीग्रेटेड रिफाइनरी विस्तार के बाद, जिसने इसे भारत में सबसे बड़ी पीएसयू रिफाइनरी बना दिया, पेट्रोकेमिकल कॉम्प्लेक्स की आधारशिला रखी गई। आयात पर निर्भरता को कम करने के उद्देश्य से यह एक पूर्ण ‘मेक इन इंडिया’ पहल है।बीपीसीएल को एक्रिलेट्स और एक्रेलिक एसिड के पेट्रोकेमिकल सेगमेंट में उद्यम करने वाली भारत की पहली तेल कंपनी होने पर गर्व है।

Advertisement

Related posts

यूट्यूब देख नकली नोटों की छपाई ,26 वर्षीय युवक गिरफ्तार

Deepak dubey

ट्रेनिंग देने के बहाने जिम ट्रेनर ने युवती से दुष्कर्म

Deepak dubey

मुंज्या में शरवरी का बैटमैन वर्सेस सुपरमैन कनेक्शन!

Deepak dubey

Leave a Comment