Joindia
क्राइमदेश-दुनियामुंबई

राणे के बंगले में अनधिकृत निर्माण गिराने का काम शुरू

Advertisement
Advertisement
मुंबई के जुहू इलाके में केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के बंगले में अनधिकृत निर्माण को गिराने का काम बृहस्पतिवार को शुरू हो गया। उच्चतम न्यायालय ने राणे के बंगले ‘अधीश’ में अनधिकृत निर्माण को गिराने के लिए बृहन्मुंबई मनपा (बीएमसी) को निर्देश देने के मुंबई उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका को सितंबर में खारिज कर दिया था। शीर्ष अदालत ने कहा था कि निर्माण कार्य में तटीय नियमन क्षेत्र (सीआरजेड) एवं तल क्षेत्र सूचकांक (एफएसआई) के नियमों की अनदेखी की गयी। एफएसआई किसी तल का वह अधिकतम स्वीकार्य क्षेत्र होता है जिस पर निर्माण कार्य किया जा सकता है।
राणे के परिवार के स्वामित्व वाली कंपनी कालका रीयल इस्टेट प्राइवेट लिमिटेड ने उच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ शीर्ष अदालत में याचिका दायर की थी। बीएमसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बृहस्पतिवार को कहा कि ‘‘उच्चतम न्यायालय ने राणे को निर्देश दिया है कि उनके बंगले में अवैध निर्माण को दो महीने में गिराया जाए। अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो बीएमसी कार्रवाई करेगा। राणे के बंगले के खिलाफ शिकायत दाखिल करने वाले कार्यकर्ता संतोष धौंडकर ने घटनाक्रम का स्वागत करते हुए बताया कि सीआरजेड नियमों के उल्लंघन की शिकायत अभी लंबित है।
Advertisement

Related posts

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से हाजिर हुए राउत, आरोपों से किया इंकार

Deepak dubey

MUMBAI : मुंबई में हाई-प्रोफाइल  कोकीन, एमडी की खेप बेचने से पहले जब्त 

Deepak dubey

पश्चिम रेलवे को 9 महीने के बाद मिले महाप्रबंधक, अनिल गलगली की शिकायत का असर

Deepak dubey

Leave a Comment