Joindia
कल्याणठाणेदेश-दुनियानवीमुंबईमुंबईसिटी

BEST employees will get benefits in bmc hospital: मनपा अस्पतालो में बेस्ट कर्मचारियों को मिलेगी प्राथमिकता, 38 हजार कर्मचारियों को मिलेगा लाभ

Advertisement

मुंबई। महानगर मुंबई(Metropolitan Mumbai)की लाइफ लाइन कहे जाने वाली बेस्ट बसों के कर्मचारियों के स्वास्थ्य को लेकर हमेशा चिंता व्यक्त की जाती रही है। बेस्ट विभाग का स्वास्थ्य विभाग उन्हें बेहतर स्वास्थ्य देने के लिए पूरा प्रयास करता रहता है। अबतक मनपा कर्मचारियों की तरह उन्हें मनपा अस्पतालों में प्राथमिकता नहीं मिलती थी। उन्हें सामान्य लोगों की तरह ही कतार में लगकर इलाज कराना पड़ता था। लेकिन अब उन्हें मनपा अस्पतालों में मनपा कर्मचारियों की तरह ही प्राथमिकता मिलेगी। इससे बेस्ट में काम करने वाले लगभग 38 हजार कर्मचारियों को लाभ मिलेगा।

Advertisement

मुंबई l(BEST employees will get benefits in bmc hospital) में बेस्ट के कर्मचारियों के स्वास्थ्य सेवाओं के लिए बेस्ट का अपना स्वास्थ्य विभाग है। लेकिन कई गंभीर बीमारियों के लिए उन्हें मनपा अस्पतालों का सहारा लेना पड़ता है। किंतु मनपा अस्पतालों में उन्हें सामान्य जनता की तरह कतार में लगाकर इलाज कराना पड़ता है। कई घटनाएं ऐसी हुई हैं जिसके चलते कई कर्मचारियों को इसी चक्कर मे जान गवानी पड़ी। जिसे लेकर बेस्ट के स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट पर प्रबंधन ने मनपा आयुक्त से यह मांग की थी कि मनपा अस्पतालों में बेस्ट कर्मचारियों की ठीक उसी तरह व्यवहार किया जाय जैसे मनपा कर्मचारियों के साथ किया जाता है। जिस पर कई वर्षों बाद निर्णय आया है।

इस बारे में बेस्ट के स्वास्थ्य विभाग के मुख्य अधिकारी अनिल कुमार सिंघल ने बताया कि बेस्ट कर्मचारियों के लिए यह बहुत बढ़िया निर्णय है। बेस्ट कर्मचारियों के स्वास्थ्य को बेहतर रखने में काफी मदद होगी। उन्हें समय पर अच्छा इलाज मिल सकेगा। सिंघल ने बताया कि इस बारे में मनपा ने जीआर निकाला है। जिसके अनुसार बेस्ट कर्मचारियों को अब से मनपा के लगभग 200 डिस्पेंसरियो व क्लीनिकों, 5 विशेष अस्पतालों और मनपा के सभी प्रसूति अस्पतालों में तरजीह दी जाएगी। इसके अलावा केईएम, सायन, नायर अस्पतालों और 16 अन्य अस्पतालों में बेस्ट कर्मचारियों को प्राथमिकता दी जाती है।

इमरजेंसी इलाज का खर्च बेस्ट वहन करती है।

बेस्ट बस के कर्मचारियों को मुंबई में कहीं पर भी किसी भी समय तबियत खराब होने पर इमरजेंसी की स्थिति में उन्हें किसी भी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया जा सकता है। निजी अस्पतालों में भी यदि उन्हें भर्ती कराया गया तो अगले 24 घंटे तक का खर्च बेस्ट विभाग वहन करती है। 24 घंटे के बीच उन्हें मनपा अस्पतालों में शिफ्ट किया जाता है। ऐसे में अब यह दूसरी बेस्ट इन कर्मचारियों को मिलेगी।

MUMBAI : फ्रांसीसी और भारतीय नौसेना ने दिखाया अपने युद्ध कौशल का जलवा

Advertisement

Related posts

इंस्टाग्राम पर अमेरिकन से दोस्ती महिला को पड़ा भारी

vinu

बैग में पैसे होने के शक पर अंधी महिला की हत्या, पुलिस ने 24 घंटे में सुलझाई हत्या की गुत्थ

Deepak dubey

Election result: हिमाचल में बहुमत की ओर कांग्रेस

vinu

Leave a Comment