Joindia
मुंबईUncategorizedकोलकत्तादिल्लीदेश-दुनियाराजनीतिसिटी

लोकसभा में मिली उनके गुट को मान्यता – मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे

Advertisement
Advertisement

अब उद्धव से शिवसेना छीनना होगा आसान?

मुंबई। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बीच अब पार्टी की दावेदारी को लेकर जंग तेज हो गई है। मुंबई में पत्रकारों को संबोधित करते हुए एकनाथ शिंदे ने दावा किया कि लोकसभा स्पीकर ओम बिरला ने राहुल शेवाले को सदन के नेता रूप में मान्यता दे दी है। हालांकि सूत्रों के अनुसार, लोकसभा अध्यक्ष दोनों गुटों की ओर से मिले पत्रों की अभी जांच कर रहे हैं और इस मामले में बुधवार को फैसला ले सकते हैं।
दरअसल एकनाथ शिंदे गुट ने अब लोकसभा में शिवसेना पर अपना दावा ठोंक दिया है। मंगलवार को शिंदे गुट के 12 लोक सभा सांसदों ने स्पीकर ओम बिरला से मुलाकात कर बताया कि उन्होंने सदन में पार्टी का नेता बदल लिया है। उन्होंने शिवसेना सांसद राहुल शेवाले को सदन में शिवसेना के नेता के रूप में मान्यता देने का अनुरोध किया। जबकि एक दिन पहले ही पार्टी के सदन के नेता विनायक राउत ने लोकसभा अध्यक्ष को एक पत्र सौंपा था जिसमें विरोधी खेमे से कोई ज्ञापन स्वीकार नहीं करने का अनुरोध किया गया था।
एकनाथ शिंदे ने दावा करते हुए कहा कि 12 सांसदों ने ओम बिरला से मुलाकात कर उन्हें एक पत्र सौंपा जिसमें राहुल शेवाले को सदन के नेता के रूप में मान्यता देने की गुजारिश की गई। उन्होंने कहा कि राहुल शेवाले सदन के नेता होंगे जबकि भावना गवली लोकसभा में पार्टी की चीफ विप रहेंगी। पिछले दिनों ठाकरे गुट ने भावना गवली को इस पद से हटाकर राजन विचारे को चीफ विप नियुक्त किया था।
लोक सभा अध्यक्ष से मुलाकात करने के बाद शिंदे गुट के सांसद हेमंत गोडसे ने बताया कि पार्टी के 12 सांसदों ने लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला से मुलाकात कर उन्हें बताया कि उन्होंने लोक सभा में अपना नेता बदल लिया है। उन्होंने बताया कि 12 सांसदों ने मिलकर विनायक राउत की जगह राहुल शेवाले को अपना नया नेता चुना है और उन्हें सदन में शिवसेना के नेता के तौर पर मान्यता देने के अनुरोध को लेकर ही 12 सांसदों ने स्पीकर साहब के साथ मुलाकात की है।
विनायक राउत ने भी भेजा पत्र
जबकि सोमवार को राउत ने लोकसभा अध्यक्ष को सौंपे पत्र में स्पष्ट किया था कि वे शिवसेना संसदीय पार्टी के विधिवत नियुक्त नेता हैं और राजन विचारे मुख्य सचेतक हैं। लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला से मुलाकात करने वाले इन 12 सांसदों में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के बेटे और महाराष्ट्र के कल्याण से लोक सभा सांसद श्रीकांत शिंदे भी शामिल रहे। वर्तमान में लोक सभा में शिवसेना के कुल 19 सांसद है और इनमें से 12 सांसदों के शिंदे के साथ जाना उद्धव ठाकरे के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं है।

शिवसेना के ये 12 सांसद हुए बागी
शिवसेना में अब सांसदों के स्तर पर भी टूट हो गई है। महाराष्‍ट्र श‍िवसेना के 18 सांसदों में 12 सांसद एकनाथ श‍िंदे गुट में चले गए हैं। एक द‍िन पहले एकनाथ शिंदे के साथ ऑनलाइन मीट‍िंग में इन सांसदों ने हिस्सा लिया था। शिवसेना के बागी सांसदों में सदाशिव लोखंडे, हेमंत गोडसे, हेमंत पाटील, राजेंद्र गावित, संजय मंडलीक, श्रीकांत शिंदे, श्रीरंग बारणे, राहुल शेवाळे, प्रतापराव जाधव, धैर्यशील माने, कृपाल तुमाने, भावना गवली शामिल हैं।

Advertisement

Related posts

बीजेपी संसदीय बोर्ड से नितिन गडकरी और शिवराज सिंह चौहान बाहर ,देवेंद्र फडणवीस की बढ़ी ताकत

Deepak dubey

Ramayana book series unveiled: मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के हाथो रामायण पुस्तक शृंखला का अनावरण

Deepak dubey

TMC news : ठाणे मनपा के कलवा अस्पताल का दर्जा सुधरा तो खर्च बढ़ गया

Deepak dubey

Leave a Comment