Joindia
क्राइमकल्याणठाणेनवीमुंबईफिल्मी दुनियामुंबईरोचकसिटी

रेल अधिकारी ही आरोपी ठेकेदार को आधे दाम पर बेचता था तेल !

Advertisement
Advertisement

मुंबई ।अंधेरी आरपीएफ द्वारा डीजल चोरी के आरोप में गिरफ्तार किए गए आरोपी ठेकेदार और जेसीबी ड्राइवर से पूछताछ शुरू की है ।इनके पास से बरामद मोबाइल की जांच में दादर रेल पथ अधिकारी द्वारा मुनाफे के लिए रेलवे का डीजल आधे दाम पर बेचने का खुलासा चैट से हुआ है। इसके साथ ही आरोपी ने अपने बयान में भी इसका खुलासा किया है ।दादर रेल पथ का अधिकारी ही भी इस में शामिल था इससे अब डीजल चोरी का मामला गंभीर होता जा है ।इस को लेकर आरपीएफ ने अपनी जांच तेज कर दी है ।लेकिन रेलवे के तरफ से अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

पश्चिम रेलवे आरपीएफ क्राइम ब्रांच को जानकारी मिली थी कि कुछ रेलवे के डीजल चोरी कर उसका इस्तेमाल जेसीबी में कर रहे है ।इस जानकारी के आधार पर मंगलवार को जोगेश्वरी एटी राम मंदिर स्टेशन ब्रिज के नीचे डीजल भरा चार ड्रम बरामद किया ।अधिक जांच में पाया गया कि जेसीबी मालिक ने रेलवे ठेकेदार से यह डीजल खरीदा है।इसके बाद अंधरी आरपीएफ में शिकायत दर्ज कर जेसीबी मालिक और ठेकेदार संतोष पांडेय को गिरफ्तार कर 800 लीटर डीजल बरामद किया गया।

मोबाइल से खुल रहा कई राज

आरपीएफ ने जेसीबी मालिक और रेलवे ठेकेदार संतोष पांडेय का मोबाइल जब्त कर जांच शुरू किया है ।जिसमे जेसीबी मालिक और ठेकेदार के कई व्हाट्सएप चाट मिले है। जिसमे ठेकेदार द्वार बाजार भाव से कम कीमत पर बेचा गया है ।इसके साथ ही ठेकेदार के एक रेलवे अधिकारी के साथ किए गए चाट भी मिला है ।जिसमे दादर रेल पथ अधिकारी उमेश गुप्ता से डीजल की लेन देन की बात की गई है ।

रेलवे स्टोर से अधिकारी ने आधे दाम पर बेचा डीजल

गिरफ्तार रेलवे ठेकदार संतोष पांडेय ने आरपीएफ को दिए बयान में खुलासा किया है कि वह 2018 से रेलवे का ठेका ले रहा है उसके 72 पम्प का रेलवे में कॉन्ट्रैक्ट है जिसमे उसके पम्प चर्चगेट से बोरीवली के बीच कार्यरत है वह उक्त पम्प बारिश के पानी को निकालने हेतु रेलवे प्रशासन द्वारा कॉन्ट्रैक्ट दिया गया है यह पम्प को चलाने हेतु दादर रेल पथ के अधिकारी उमेश गुप्ता से दादर स्टोर से कम भाव में अपने आर्थिक लाभ हेतु लिया है। जिसका भुगतान दादर रेलवे अधिकारी उमेश गुप्ता को नगद भुगतान किया है । इस मामले में आरपीएफ के तरफ से संबंधित रेलवे अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने हेतु रेल प्रशासन को सूचित किए जाने की जानकारी सूत्रों से मिली है। अब देखना है कि रेल प्रशासन डीजल चोरी के इस रैकेट में रेल अधिकारी पर क्या कार्रवाई करती है। बताया यह भी जा रहा है कि उसे बचाने की कोशिश भी की जा रही है।

Advertisement

Related posts

Closing of Shri Ram Katha and Ram Ratna Award Ceremony: श्री राम कथा एवं राम रत्न पुरस्कार समारोह का समापन, सिद्ध श्री कालिका धाम पीठ श्री दयानिधि धाम ट्रस्ट

Deepak dubey

हनीमून की रात दुल्हन फरार,ससुराल वाले हुए कंगाल

Deepak dubey

‘Maharashtra Jan Gaurav Puraskar-2024’: राजभवन महाराष्ट्र जन गौरव पुरस्कार-2024 का भव्य आयोजन

Deepak dubey

Leave a Comment