Joindia
देश-दुनियामुंबईसिटीहेल्थ शिक्षा

मुंबई में लक्षण विहीन 90 फीसदी मरीज सिर्फ तीन की हालत गंभीर

Advertisement
Advertisement
मुंबई में गणेशोत्सव की शुरुआत में चौथी लहर के संकेत मिले थे। इसके साथ ही कोरोना के मरीजों में रोजाना खतरनाक वृद्धि भी हो रही थी, जो अब पूरी तरह नियंत्रण में आ गई है।  फिलहाल इस समय मुंबई में कुल 795 संक्रमितों में से 717 यानी 90 फीसदी से ज्यादा संक्रमितों में कोरोना के कोई लक्षण नहीं हैं। केवल तीन फीसदी लोगों की हालत ही गंभीर है। ऐसे में अब यह स्पष्ट हो गया है कि मुंबई अब कोरोना से मुक्त हो रहा है। ऐसे में मुंबईकरों की चिंता मिटने लगी है।
उल्लेखनीय है कि मार्च 2020 में कोरोना ने मुंबई में दस्तक दिया था। इसके बाद मनपा और राज्य सरकार की लागू हुईं प्रभावी योजनाओं के चलते कोरोना की तीन लहरों को  सफलतापूर्वक खदेड़ा जा सका। हालांकि जून के अंत में मुंबई में एक बार फिर से मरीजों की दैनिक वृद्धि शुरू हो गई। मई महीने में 125 से नीचे पहुंची मरीजों की संख्या अगस्त में सीधे बढ़कर डेढ़ हजार तक पहुंच गई, जिससे मनपा की चिंता बढ़ गई थी। 15 से 27 अगस्त की अवधि में करीब 9,495 मरीजों की वृद्धि हुई।हालांकि गणेशोत्सव के बाद मुंबई में मरीजों की संख्या में हो रहा इजाफा रुक गया, जिससे एक सुकून देने वाली तस्वीर सामने आई है।
आठ हजार दिन पर डबलिंग रेट
गणेशोत्सव की शुरुआत में मरीजों की संख्या बढ़ने से सात हजार दिन पर पहुंचा डबलिंग रेट सीधे 988 दिन पर आ गई थी। हालांकि अब डबलिंग रेट 8,468 दिन हो गई है। इस बीच मुंबई में जहां करीब पांच हजार पर टेस्ट हो रहे हैं, वहीं सौ से भी कम मरीज मिल रहे हैं।
Advertisement

Related posts

Initiative to make The Kerala Story tax free: द केरला स्टोरी” फिल्म को महाराष्ट्र में कर मुक्त करने के लिए महासंघ ने सीएम को एवं डीसीएम को लिखा पत्र

Deepak dubey

Bihari migrants attacked in tamilnadu: तमिलनाडु से जैसे तैसे भाग रहे हैं बिहारी, अबतक 15 लोगों की गई जान

dinu

ठाकरे गुट-वंचित गठबंधन पर मुहर? उद्धव ठाकरे और प्रकाश अंबेडकर के बीच बैठक कल, राज्य में नए राजनीतिक समीकरण की शुरुआत।

Deepak dubey

Leave a Comment