Joindia
आध्यात्मकल्याणकाव्य-कथाकोलकत्ताक्राइमखेलठाणेदिल्लीदेश-दुनियानवीमुंबईपालघरफिल्मी दुनियाबंगलुरूमीरा भायंदरमुंबईराजनीतिरोचकसिटीहेल्थ शिक्षा

मलिक की गिरफ्तारी पर फडणवीस: पूर्व CM ने कहा-नवाब मलिक का पैसे सीधे दाऊद इब्राहिम तक पहुंचा, तीन धमाकों में हुआ इन पैसों का इस्तेमाल

Advertisement

[ad_1]

Hindi NewsLocalMaharashtraFormer CM Devendra Fadnavis Said Nawab Malik’s Money Directly Reached Dawood Ibrahim, This Money Was Used In Three Blasts

Advertisement

मुंबई7 दिन पहले

कॉपी लिंकपूर्व सीएम  देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि आने वाले समय में वे अंडरवर्ल्ड से जुड़े कुछ और खुलासे करने वाले हैं। - Dainik Bhaskar

पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि आने वाले समय में वे अंडरवर्ल्ड से जुड़े कुछ और खुलासे करने वाले हैं।

महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक को 8 दिन की ED कस्टडी में भेज दिया गया है। अदालत के फैसले के ठीक बाद पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस मीडिया के सामने आये और नवाब मलिक पर कई गंभीर आरोप लगाए। पूर्व सीएम ने कहा कि उन्होंने मलिक के खिलाफ सभी सबूत सीबीआई, ED और NIA जैसी एजेंसीज को सौंपे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि आने वाले दिनों में वे अंडरवर्ल्ड को लेकर कुछ और खुलासे करने वाले हैं।

यह टेरर फंडिंग का स्पष्ट एंगल है: फडणवीसपूर्व सीएम ने कहा,’इसमें टेरर फंडिंग का एंगल स्पष्ट नजर आ रहा है। यह पूरी तरह से नियम के मुताबिक की गई कार्रवाई है। मलिक पर जो कार्रवाई हुई है, उसमें ईडी ने पूरी सत्यता आज कोर्ट के सामने रखी है। हजारों करोड़ की जमीन अंडरवर्ल्ड के माध्यम से नवाब मलिक ने खरीदी है, इसका कच्चा चिट्ठा आज सामने आया है। जिस महिला की जमीन गलत कागज तैयार करके हथिया ली गई, उस महिला ने ED को दिए अपने बयान में कहा है कि उसे एक भी पैसे नहीं मिले हैं।’

मलिक के पैसे सीधे दाऊद तक पहुंचे: फडणवीसफडणवीस ने आगे कहा,’नवाब मलिक ने हसीना पारकर की मंजूरी के बाद साहब अली खान और सलीम पटेल ने फर्जी पॉवर ऑफ अटर्नी बना कर हजारों करोड़ की जमीन को सिर्फ 30 लाख रुपए में बेचा था और इसका पैसा भी उसके असली मालिक को नहीं मिला है। इसे 55 लाख रुपए सीधे हसीना पारकर को मिले, जो दाऊद की बहन थी और उसके सारा रियल स्टेट का बिजनेस संभाल रही थी।’

तीन धमाकों में हुआ मलिक के पैसों का इस्तेमालफडणवीस ने आगे कहा कि इस प्रकार से हमारे देश के दुश्मन संग व्यवहार करने का कारण क्या है। राज्य के एक मंत्री द्वारा दिया पैसा सीधे दाऊद तक गया और उसने देश में हुए तीन बम विस्फोटों में इसका इस्तेमाल किया। ये सारी चीजें कोर्ट के सामने ईडी ने रखी है। ईडी ने जेल में जाकर मुंबई बम विस्फोट के आरोपी का बयान भी लिया है और उसने सारी बातों को माना है। इसीलिए शायद अदालत ने आज कोर्ट ने मंत्री को कस्टडी दी है।

सभी राजनीतिक दलों को करना चाहिए समर्थनपूर्व सीएम ने आगे कहा कि यह बहुत संगीन मामला है देश के दुश्मनों के साथ व्यवहार करने का कारण क्या है। यह राजनीतिक मामला नहीं है यह देश की संप्रभुता का मामला है। मुझे लगता है कि ईडी ने जो कार्रवाई की और एक दम सही है और सभी राजनीतिक दलों को इस कार्रवाई का समर्थन करना चाहिए। मलिक की गिरफ्तारी यह साबित करती है कि दाऊद ने जितने भी बम विस्फोट किये है, उसमें भले ही आईएसआई हाथ हो लेकिन उसकी टेरर फंडिंग इंडिया में ही जमा की गई थी। आज की कार्रवाई बिल्कुल भी राजनीतिक कार्रवाई नहीं है। देश के दुश्मनों को अगर कोई मदद करता है तो यह कार्रवाई करनी पड़ेगी।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Advertisement

Related posts

1 अप्रैल से महाराष्ट्र में खत्म होंगे कोविड प्रतिबंध: राजेश टोपे ने कहा-कोरोना नियमों खत्म होने के बावजूद मास्क रहेगा अनिवार्य, ट्रेन और बसों में यात्रा को लेकर जल्द होगा निर्णय

cradmin

हिन्दू जनजागृति समिति ने उजागर किया ‘महाराष्ट्र प्रदूषण नियंत्रण मंडल’ का धार्मिक पक्षपात !

Deepak dubey

Coastal road: यहां बनेगा देश का सबसे बड़ा अंडरग्राउंड पार्किंग

vinu

Leave a Comment