Joindia
मुंबईदिल्लीदेश-दुनियाराजनीति

मंत्री पद दिलाने के नाम पर बीजेपी विधायक से 100 करोड़ की ठगी की कोशिश

Advertisement
Advertisement

पुलिस ने चार को किया गिरफ्तार

मुंबई ।ठगी करने वालो द्वारा रोज ठगी के नए तरीके अपनाए जा रहे हैं। अब तो सीधे विधायको को मंत्री मंडल में शामिल करने के नाम पर ठगी शुरू किया गया हैं। ताजा मामले में मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच की एंटी एक्सटॉर्शन सेल ने दौंड से बीजेपी विधायक राहुल कुल से 100 करोड़ रुपये की ठगी करने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया है।
क्राइम ब्रांच द्वारा गिरफ्तार आरोपियों की पहचान रियाज शेख (41), योगेश कुलकर्णी (57), सागर संगवाई (37) और जफर अहमद राशिद अहमद उस्मानी (53) के रूप में हुई है।पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार किए गए आरोपी शेख ने 12 जुलाई को बीजेपी विधायक से संपर्क किया था, लेकिन कुल का कोई जवाब नहीं आने पर वह शनिवार को विधायक के निजी सहायक (पीए) के पास पहुंचा।आरोपी ने कथित तौर पर पीए को बताया कि वह दिल्ली से विधायक से मिलने आया था।अगले दिन पीए ने कुल के साथ उसे लेकर बात की थी, जिसके बाद उन्होंने शेख को नरीमन पॉइंट पर मिलने के लिए बुलाया था पुलिस ने बताया कि बैठक के दौरान कुल ने एक पोर्टफोलियो के लिए सौदेबाजी की और इसके लिए 90 करोड़ रुपये देने को तैयार हो गए थे।शेख ने राशि का 20 प्रतिशत, 18 करोड़ रुपये, एडवांस में मांगा। कुल ने यह रक्काम लेने के लिए उसे ट्राइडेंट होटल में बुलाया और इसकी जानकारी पुलिस को दे दी।

शेख को पुलिस ने सोमवार को किया था गिरफ्तार

शेख को सोमवार दोपहर करीब 1.30 बजे होटल पहुंचने पर हिरासत में ले लिया गया।कुल, उनके पीए और एक अन्य भाजपा विधायक जयकुमार गोरे होटल में मौजूद थे
पुलिस वहां सिविल कपड़ों में थी जैसे ही शेख पहुंचा, उसे पकड़ लिया गया।पूछताछ के दौरान, शेख ने कुलकर्णी और सांगवई की भूमिकाओं का खुलासा किया, जिन्हें सोमवार देर रात ठाणे से गिरफ्तार किया गया था। कुलकर्णी और सांगवई ने आरोप लगाया कि नागपाड़ा के उस्मानी नाम के एक व्यक्ति ने दावा किया था कि वह दिल्ली में एक व्यक्ति को जानता है जो लॉबिंग कर रहा है। व्यक्ति पैसे के बदले में मंत्री पद की सुविधा दे सकता है, जो लगभग 50-60 करोड़ रुपये है और उस्मानी ने वादा किया था कि अतिरिक्त धन आपस में वितरित किया जा सकता है ।इसके बाद पुलिस ने नागपाड़ा के आसपास जाल बिछाया और मंगलवार तड़के उस्मानी को भी गिरफ्तार कर लिया गया।चारों को धोखाधड़ी, प्रतिरूपण द्वारा धोखाधड़ी और सामान्य इरादे के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।उन्हें कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 26 जुलाई तक पुलिस रिमांड में भेज दिया गया है।

Advertisement

Related posts

Suresh Dubey Murder विरार बिल्डर सुरेश दुबे हत्याकांड में भाई ठाकुर समेत तीन बरी

Deepak dubey

अल्पसंख्यक समुदाय के छात्रों की योजनाएं हुई गायब, विधायक रईस शेख ने तकनीकी कमेटी को अध्ययन के आदेश देने का दिया सुझाव

Deepak dubey

MUMBAI: ग्लोबल हॉस्पिटल में हाथ प्रत्यारोपण हुए मरीज मुंबई मैराथन २०२३ में होगें शामिल

Deepak dubey

Leave a Comment