Joindia
राजनीतिमुंबई

प्रदेश भाजपा गुजरात के हितों की रक्षा में है जुटी !महाराष्ट्र के युवाओं का निवाला फिर छीन लिया गुजरात ने- एनसीपी

Advertisement
Advertisement
भाजपा गुजरात के हितों की रक्षा में व्यस्त है, महाराष्ट्र के बड़ी परियोजना को गुजरात में स्थानांतरित होने पर राकांपा प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील भड़क गए है, उन्होंने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा ने   फिर एक बार राज्य के युवाओं का निवाला छीन लिया है, इसके लिए जिम्मेदार मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस राज्य की युवाओं से माफी मांगेंगे क्या? ऐसा सवाल जयंत पाटील ने किया।
बता दें कि महाविकास आघाड़ी सरकार के कार्यकाल में वेदांत ग्रुप और फॉक्सकान कंपनी का सेमीकंडक्टर परियोजना महाराष्ट्र में होने वाली थी, परंतु यह परियोजना महाराष्ट्र की जगह गुजरात में होने की बात सामने आई है, यह बात सामने आने के बाद युवासेना प्रमुख, विधायक आदित्य ठाकरे, राकांपा प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटील आदि विरोधी दल के नेता ईडी सरकार पर जमकर निशाना साधा है।
वेदांत ग्रुप और फोक्सकॉन कंपनी की संयुक्त भागीदारी से करीब २० बिलियन डॉलर्स मतलब एक लाख अठ्ठावन्न हजार करोड़ की परियोजना महाराष्ट्र के हाथ निकलकर गुजरात चली गई है। करीब एक लाख लोगों रोजगार मिलने वाली इस परियोजना को महाराष्ट्र ने खो दिया है। महाविकास आघाडी ने निवेश के लिए काफी प्रयत्न किया था, लेकिन यह परियोजना गुजरात में जाने से महाराष्ट्र के मुंह से निवाला एक बार फिर गुजरात ने छीन लिया है, ऐसे शब्दों में जयंत पाटिल ने भाजपा पर निशाना साधा। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री व उपमुख्यमंत्री को राजनीतिक सभा लेने के समय से फुर्सत न मिलने कारण पुन: एक बार गुजरात ने महाराष्ट्र के मुंह से निवाला छीन लिया। गुजरात चुनाव के मद्देनजर महाराष्ट्र भाजपा गुजरात के हितों की रक्षा में जुटी हुई दिखाई देती है, महाराष्ट्र के युवाओं के अधिकार का रोजगार खोने के लिए मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री युवाओं से माफी मांगेंगे क्या? ऐसा सवाल जयंत पाटील ने ईडी सरकार से पूछा है। जयंत पाटील अलावा कांग्रेस नेता बाला साहेब थोरात ने भी उक्त परियोजना को गुजरात जाने को लेकर भाजपा पर निशाना साधा है।
Advertisement

Related posts

Bharat Mandapam.G-20: दिल्ली में इस जगह थूकने पर लगेगा एक लाख रुपये का जुर्माना

Deepak dubey

MUMBAI: चालू वित्त वर्ष में नेपाल से बिना शुल्क खाद्य तेल का आयात कम करने में सफल रहा भारत

Deepak dubey

धारावी पुनर्विकास परियोजना पर अब तक किए गए 31.27 करोड़ रुपए खर्च

Deepak dubey

Leave a Comment