Joindia
आध्यात्मकल्याणकाव्य-कथाकोलकत्ताक्राइमखेलठाणेदिल्लीदेश-दुनियानवीमुंबईपालघरफिल्मी दुनियाबंगलुरूमीरा भायंदरमुंबईराजनीतिरोचकसिटीहेल्थ शिक्षा

न मास्क की मजबूरी, न कोरोना की पाबंदी: 2 अप्रैल से राज्य में सभी प्रतिबंध हुए खत्म, मॉल, जिम, होटल और सिनेमाघर अब 100% कैपेसिटी में संचालित होंगे

Advertisement

[ad_1]

Hindi NewsLocalMaharashtraMaharashtra: From April 2, All Restrictions End In The State, Malls, Gyms, Hotels And Cinemas Will Now Operate At 100% Capacity.

Advertisement

मुंबई17 मिनट पहले

कॉपी लिंकअब मास्क और सामाजिक दूरी की अनिवार्यता को खत्म कर दिया गया है। - Dainik Bhaskar

अब मास्क और सामाजिक दूरी की अनिवार्यता को खत्म कर दिया गया है।

तकरीबन दो साल बाद महाराष्ट्र में सभी तरह की कोरोना पाबंदियों को 2 अप्रैल यानी गुड़ी पड़वा से खत्म किया जा रहा है। इस फैसले पर गुरुवार को कैबिनेट की बैठक में मुहर लगा दी गई। बता दें कि पिछले कुछ दिनों से राज्य के कई शहरों में एक भी कोरोना संक्रमित नहीं मिला है। जिसके बाद यह फैसला उद्धव सरकार ने लिया है। हालांकि, पहले ही काफी हद तक प्रतिबंध हटाए जा चुके थे। स्कूल, थिएटर्स, मॉल्स, रेस्टोरेंट्स, पार्क, ऑफिस खोल दिए गए थे। वहीं रोजमर्रा का कामकाज भी पटरी पर आना शुरू हो गया है।

सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि गुड़ी पड़वा के दिन जुलूस और रैली की भी अनुमति दी गई है। हालांकि, भविष्य में कोरोना के प्रकोप को रोकने के लिए नागरिकों को मास्क पहनने, सुरक्षित दूरी बनाए रखने और कोरोना के खिलाफ टीका लगवाने के लिए कहा गया है।

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य में मास्क अब अनिवार्य नहीं रहेगा, लेकिन लोगों को अपनी सेहत का ध्यान रखते हुए खुद ही इसका इस्तेमाल करना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रशासन को इस संबंध में तत्काल विस्तृत आदेश जारी करने का भी निर्देश दिया गया है।

अब महाराष्ट्र में क्या बदलेगा?

2 अप्रैल से महाराष्ट्र में सभी कोरोना प्रतिबंध हटा दिए जाएंगे।गुड़ी पड़वा की शोभायात्रा, डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर जयंती और रमजान को उत्साह से मना सकेंगे लोग।मास्क और सामाजिक दूरी की अनिवार्यता को खत्म कर दिया गया है।होटल, पार्क, जिम, सिनेमा, शैक्षणिक संस्थान, अंत्येष्टि में उपस्थिति की कोई सीमा नहीं होगी।बस, लोकल और ट्रेन से यात्रा करते समय वैक्सीन सर्टिफिकेट दिखाने की जरूरत नहीं होगी।सार्वजनिक स्थानों, मॉल, बगीचों में मास्क पहनने या टीकाकरण प्रमाण पत्र दिखाने की आवश्यकता नहीं होगी है।महाराष्ट्र में सभी धार्मिक स्थलों पर लगे प्रतिबंधों को हटा दिया गया है।

हर साल होगा 22 लाख कर्मचारियों का फ्री हेल्थ चेकअपइन प्रतिबंध को खत्म करने का ऐलान करते हुए स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि 40-50 वर्ष के आयु वर्ग के लगभग 22 लाख सरकारी कर्मचारियों को एक वर्ष में एक अनिवार्य हेल्थ चेकअप और 50-60 वर्ष की आयु के लिए दो चेकअप प्रदान किए जाएंगे। प्रत्येक कर्मचारी को इसके लिए 5000 रुपए तक राशि प्रदान की जाएगी। इससे सरकार पर हर साल लगभग 105 करोड़ रुपए खर्च आएगा।

जितेंद्र आव्हाड ने गुड़ी पड़वा जोरदार ढंग से मनाने को कहाराज्य सरकार के इस फैसले की जानकारी एनसीपी नेता जितेंद्र आव्हाड ने ट्वीट कर दी है। उन्होंने कहा कि धारा 144 हटाए जाने के बाद गुड़ी पड़वा उत्सव, रमजान और बाबासाहेब शोभा यात्रा जोरदार तरीके से मनाएं। बता दें कि देश के दूसरे राज्यों की तरह अब महाराष्ट्र में भी कोरोना के मामले काफी कम हो गए हैं। राज्य में संक्रमण के मामलों पर काफी हद तक काबू पा लिया गया है। यही वजह है कि सरकार सभी कोरोना नियमों को हटाने पर विचार कर रही थी। अब सरकार ने धारा 144 हटा दी है। खास बात ये है कि राज्य में अब मास्क लगाना भी वैकल्पिक हो गया है।

पिछले 24 घंटे में हुई सिर्फ एक कोरोना मरीज की मौत

बता दें कि महाराष्ट्र ने पिछले 24 घंटों में संक्रमण के 183 नए मामले सामने आए हैं। वहीं सिर्फ 1 मरीज की जान गई है। राहत भरी बात ये है कि एक दिन में 219 मरीज कोरोना से ठीक हुए हैं। राज्य में कोरोना संक्रमण के कुल 902 सक्रिय केस हैं।

खबरें और भी हैं…

[ad_2]

Source link

Advertisement

Related posts

Rani’s life changed with one film: एक मां की कहानी ने रानी की बदल दी जिंदगी

Deepak dubey

Alia bhatt: निजी तस्वीरें लीक होने से परेशान हुईं आलिया

Neha Singh

Maihar Dham: मैहर धाम में एसडीएम का भजन कीर्तन का विरोध !! धाम में ‘भजन-कीर्तन’ कराया बंद

Deepak dubey

Leave a Comment